Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

जम्मू और कश्मीर में फिर टारगेट किलिंग, आतंकियों ने स्कूल के अंदर घुसकर गोलीमार कर की शिक्षक की हत्या

31 May, 2022
Sachin
Share on :

इस घटना की सूचना कश्मीर पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि कुलगाम के गोपालपुरा इलाके में आतंकियों ने महिला टीचर के ऊपर फायरिंग कर दी. टीचर का नाम रजनीबाल है. वह सांबा की रहनेवाली थी और उनके पति का नाम राजकुमार है. इस वक्त वह कुलाम के चवलगाम में थी और गोपालपुरा में उनकी ड्यूटी चल रही थी.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में कश्मीरी पंडितों या कश्मीरी लोगों को लगातार निशाना बनाया जा रहा है. कुलगाम के गोपालपुरा में एक पंडित महिला को संदिग्ध आतंकियों ने मंगलवार को गोली मार दी. महिला शिक्षक को पास ही के अस्पताल में इलाज के लिए तत्काल प्रभाव से शिफ्ट किया गया, लेकिन उन्होंने वहां पर दम तोड़ दिया. जैसे ही घटना पूरे इलाके में फैली तो सुरक्षबलों की तरफ घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया.  

इस घटना की सूचना कश्मीर पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि कुलगाम के गोपालपुरा इलाके में आतंकियों ने महिला टीचर के ऊपर फायरिंग कर दी. टीचर का नाम रजनीबाल है. वह सांबा की रहनेवाली थी और उनके पति का नाम राजकुमार है. इस वक्त वह कुलाम के चवलगाम में थी और गोपालपुरा में उनकी ड्यूटी चल रही थी. पुलिस ने कहा कि जो भी आतंकी इस जघन्य अपराध में शामिल थे उनकी जल्द पहचान कर उनका खात्मा कर दिया जाएगा.

जैसे यह घटना मीडिया में हाई लाइट हुई तो स्थानीय राजनेताओं की भी प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में एक और प्रवामी सरकारी महिला टीचर के ऊपर हमला किया गया. उन्होंने आगे कहा कि रिपोर्ट है कि उनकी स्थिति खराब है. दुआ करता हूं कि वे इस हमले से बच जाएं. लेकिन वह बच नहीं पाई उन्होंने हॉस्पिटल में पहुँचने के कुछ देर बाद ही दम तोड़ दिया था.

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला

और यह भी पढ़ें- महामारी के बाद मोदी सरकार में बढ़ा जनता का विश्वास: रिपोर्ट

महिला शिक्षक से पहले राहुल भट्ट की हुई थी हत्या

कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या करने वाला आतंकी को 13 मई 2022 को सुरक्षा बलों ने मार गिराया था. सुरक्षाबलों ने  ने 24 घंटे के अंदर ही राहुल भट्ट की हत्या का बदला ले लिया था. हत्या की जांच के लिए एसआईटी गठन किया गया. कश्मीर के बडगाम जिले में एक सरकारी ऑफिस में घुसकर लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की गोली मारकर हत्या कर दी थी. 35 वर्षीय राहुल भट चादूरा के तहसील ऑफिस में प्रवासी कश्मीरी पंडितों के रोजगार के लिए दिए गए विशेष पैकेज के तहत तैनात था.    

महिला शिक्षक से पहले राहुल भट्ट की हुई थी हत्या

राहुल भट्ट से पहले माखन लाल बिंदरू की हत्या

लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी तहसील कार्यालय में दाखिल हुए और भट को गोली मार दी. उस समय ऑफिस कर्मचारियों से भरा हुआ था. राहुल भट्ट पिछले 7 महीने में दूसरे कश्मीरी पंडित हैं जिनकी हत्या आतंकवादियों द्वारा की गई है. इससे पहले प्रमुख दवा कारोबारी माखन लाल बिंदरु की छह अक्टूबर 2021 को आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

News
More stories
PM Modi आज करेंगे 11 वीं क़िस्त जारी, 10 करोड़ किसानों के बैंक खाते में 21,000 करोड़ रुपये डायरेक्ट होंगे ट्रांसफर