Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एमआर शाह को पड़ा दिल का दौरा, हिमाचल प्रदेश से एंबुलेंस से दिल्ली लाया गया

16 Jun, 2022
Sachin
Share on :

मीडिया की ख़बरों के अनुसार पता चला है कि उनको दिल्ली के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में गृह मंत्रालय से लगातार संपर्क में है.

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एमआर शाह को गुरुवार को दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद उन्हें एयर एम्बुलेंस के जरिए हिमाचल से दिल्ली लाया गया है. सुप्रीम कोर्ट के वकील और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा कि भारत के सर्वोच्च न्यायालय के माननीय न्यायाधीश एमआर शाह को हिमाचल प्रदेश में रहते हुए दिल का दौरा पड़ा है. उन्हें दिल्ली भेजने की व्यवस्था की जा रही है. ईश्वर से उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं.

मीडिया की ख़बरों के अनुसार पता चला है कि उनको दिल्ली के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में गृह मंत्रालय से लगातार संपर्क में है. जस्टिस एमआर शाह ने 19 जुलाई, 1982 को एक वकील के रूप में अपनी वकालत शुरू की थी. उन्होने गुजरात उच्च न्यायालय में दीवानी, आपराधिक, संवैधानिक, कराधान, श्रम, सेवा और कंपनी के मामलों के केस में प्रेक्टिस की. साथ ही भूमि, संवैधानिक, शिक्षा में विशेषज्ञता हासिल की.

जस्टिस एमआर शाह के दिल के दौरा पड़ने की सूचना मिलते ही सुप्रीम कोर्ट इस मामले में गृह मंत्रालय से लगातार संपर्क में है

और यह भी पढ़ें- बुलडोजर अभियान पर असदुद्दीन ओवैसी बोले, योगी आदित्यनाथ इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बन गए हैं

शाह को 7 मार्च, 2004 को गुजरात उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया. 22 जून, 2005 को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया. उन्हें 12 अगस्त, 2018 को पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया. 2 नवंबर 2018 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय में उनको नियुक्ती मिली. शाह 15 मई, 2023 को सेवानिवृत्त होने वाले हैं.

News
More stories
बाय-बाय सर... 3 शब्द लिखकर छोड़ी नौकरी, इस शख्स का रेजिग्नेशन लेटर हुआ इंटरनेट पर वायरल