Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

हिमाचल प्रदेश के सोलन में फंसी रोपवे ट्रॉली, हवा में अटकी 11 पर्यटकों की जान

20 Jun, 2022
Sachin
Share on :

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है. मीडिया की ख़बरों की माने तो यहां पर ट्रिंबर ट्रेल रोपवे में केबर कार में 11 लोग फंसे हैं.

हिमाचल प्रदेश: हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है. मीडिया की ख़बरों की माने तो यहां पर ट्रिंबर ट्रेल रोपवे में केबर कार में 11 लोगों के फंसे हैं. यहां पर हवा में यह केबल कार फंसी है और इन लोगों के बचाव के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया है.

परवाणू के टिम्बर ट्रेल रोपवे की यह घटना है, जहां बताया जा रहा है कि केबल कार में तकनीकी खराबी होने के कारण सोमवार को कई लोग हवा में अटक गए हैं. सोलन जिले के एसपी के मुताबिक उन्हें बचाने के लिए एक और केबल कार ट्रॉली लगाई गई है. एसपी ने कहा कि दूसरी ओर टिम्बर ट्रेल ऑपरेटर की तकनीकी टीम को तैनात किया गया है और पुलिस टीम स्थिति की निगरानी लगातार कर रही है. वहीं, सोलन से कांग्रेस विधायक कर्नल धनी राम शांडिल ने बताया है कि डीसी से की बात गई है. शांडिल बोले कि जल्द सबको सेना की मदद सभी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा.

कुछ ट्विट में केबल कार के अंदर फंसे लोगों के वीडियो भी सामने आए हैं. वीडियो में लोग उन्हें रेस्क्यू करने की अपील कर रहे हैं, एक शख्स ने बताया कि वह डेढ़ घंटे से से ट्रॉली के अंदर फंसे हैं और कोई मदद नहीं मिल पर रही है. हालांकि, हवा में अटके लोगों को निकालने के प्रयास शुरु कर दिए गए हैं.

फंसे हुए पर्यटकों के एक वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग केबल कार के अंदर एक दूसरे का सहारा बने हुए हैं. वे जल्द से जल्द मदद पहुंचाने की अपील कर रहे हैं. वीडियो में लोगों ने दावा किया कि वे काफी समय से केबल कार में फंसे हुए हैं, फिर भी उन्हें बचाया नहीं जा सका है.

1992 की यादें हुई ताजा

इससे पहले भी एक बार वर्ष 1992 में भी इसी रोपवे पर ऐसा ही हादसा हुआ था. करीब 10 जिंदगियां तीन दिन तक ट्रॉली में फंसी रही थी. इनमें से एक की मौत भी हो गई थी. उस समय आर्मी व एयरफोर्स के जवानों ने जान पर खेलकर लोगों को बचाया था. उस हादसे को याद कर आज भी लोग सिहर उठते हैं.  

Edited By: Deshhit News

News
More stories
उत्तराखण्ड पहला राज्य,जहां अग्निपथ योजना पर पूर्व सैनिकों से किया गया विचार विमर्श