Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

तीन मूर्ति भवन में पीएम मोदी ने “प्रधानमंत्री संग्राहलय” का किया उद्घाटन, क्या है संग्रहालय की खासियत?

14 Apr, 2022
Sachin
Share on :

इस संग्रहालय में दो ब्लॉक होंगे, पहला ब्लॉक तत्कालीन तीन मूर्ति भवन और दूसरा ब्लॉक नया भवन. माना जा रहा है कि दोनों ब्लॉकों का कुल क्षेत्रफल लगभग 15 हजार 600 वर्ग मीटर से अधिक है. संग्रहालय के भवन का डिजाइन नये भारत की कहानी से प्रेरित है.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली में नेहरू आवास तीन मूर्ति भवन में प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन किया है सबसे ख़ास बात यह रही कि उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने टिकट खरीदा फिर संग्राहलय की झलक देखने के लिए अंदर गए. “प्रधानमंत्री संगहालय” में प्रथम प्रधानमंत्री से अब तक के प्रधानमंत्रियों के कार्यों का प्रदर्शन होगा. पहले इसे नेहरू संग्रहालय के नाम से भी जाना जाता था. आपको बता दें कि पिछले महीने पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में नेहरू संग्रहालय को पीएम म्यूजियम में बदलने का फैसला लिया गया था.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने किया प्रधानमन्त्री संग्राहलय का ख़रीदा टिकट

और यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो दिन के गुजरात दौरे पर, आज राष्ट्रीय रक्षा विश्विद्यालय की एक इमारत को राष्ट्र को करेंगे समर्पित

संग्रहालय में होगा प्रधानमंत्रियों के कार्यों का प्रदर्शन

एक महीने पहले हुई कैबिनेट बैठक के दौरान पीएम मोदी ने घोषणा कि थी कि सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्रियों के देश में योगदान को स्वीकार करने के लिए यह फैसला लिया है. हम सभी एक्स पीएम के योगदान को मान्यता देना चाहते हैं. प्रधानमंत्री संग्रहालय में सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के कार्यों को दिखाया जाएगा और साथ ही पूर्व प्रधानमंत्रियों के बारे में बहुमूल्य जानकारी के लिए उनके परिवारों से भी संपर्क किया गया है.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री संग्राहलय का किया उद्घाटन

इस संग्रहालय का शुभारंभ संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की जयंती के अवसर पर किया गया है. इस मौके पर पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री एम जे अकबर भी मौजूद थे. देश आजादी का अमृत महोत्सव बना रहा है ती इस उपलक्ष्य पर संग्रहालय में स्वतंत्रता के पश्चात सभी प्रधानमंत्रियों के जीवन और योगदान के माध्यम से लिखी गई भारत की गाथा का वर्णन किया गया है.

प्रधानमंत्री संग्रहालय की खासियत

इस संग्रहालय में दो ब्लॉक होंगे, पहला ब्लॉक तत्कालीन तीन मूर्ति भवन और दूसरा ब्लॉक नया भवन. माना जा रहा है कि दोनों ब्लॉकों का लगभग कुल क्षेत्रफल 15 हजार 600 वर्ग मीटर से अधिक हो सकता है. संग्रहालय के भवन का डिजाइन नये भारत की कहानी से प्रेरित है. डिजाइन में दीर्घकालिक और ऊर्जा संरक्षण से जुड़ी तकनीक को भी शामिल किया गया है. इसके निर्माण की खासियत रही है इसमें न तो किसी वृक्ष को काटा गया है और न ही प्रतिरोपित किया गया है.

नये भारत की कहानी कहता “प्रधानमंत्री संग्राहलय

संग्रहालय की जानकारी प्रसार भारती, दूरदर्शन, फिल्म प्रभाग, संसद टीवी, रक्षा मंत्रालय, भारतीय एवं विदेशी मीडिया संगठनों, विदेशी समाचार एजेंसियों आदि जैसे संस्थानों के माध्यम से एकत्र किया गया है. अभिलेखागार के उचित उपयोग से कुछ व्यक्तिगत वस्तुएं, उपहार और यादगार वस्तुएं (सम्मान पत्रों, सम्मान, प्रदान किए गए पदक, स्मारक टिकट, सिक्के आदि) और प्रधानमंत्रियों के जीवन के विभिन्न पहलुओं को एक दर्शाया गया है.

इन प्रधानमंत्रियों के बारे में होगा प्रदर्शन

इस संग्रहालय में जवाहर लाल नेहरू, गुलजारी लाल नंदा, लाल बहादुर शास्त्री,इंदिरा गांधी, मोरारजी देसाई, चौधरी चरण सिंह,राजीव गांधी, विश्वनाथ प्रताप सिंह, चंद्रशेखर, नरसिंह राव, अटल बिहारी वाजपेयी, एचडी देवगौडा, इंद्रकुमार गुजराल, मनमोहन सिंह को शामिल किया जाएगा.

News
More stories
20वीं भारत-फ्रांस संयुक्त स्टाफ वार्ता पेरिस में आयोजित हुई