Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

दिल्ली में कल से लागु होगी पुरानी आबकारी नीति, सिर्फ 700 दुकानें और 2 प्रीमियम शराब की दुकानें खोलने का दिया निर्देश

31 Aug, 2022
Employee
Share on :
delhi liquor policy

शराब नीति में दुकानों का आकार न्यूनतम 300 वर्गमीटर रखा गया है। सभी एजेंसी को अपने-अपने इलाके में दो-दो प्रीमियम शराब की दुकानें खोलने का भी निर्देश दिया गया है। कुल 700 दुकानें खुलेंगी।

नई दिल्ली: विवादों में घिरी नई आबकारी नीति के तहत खुली दुकानें आज यानी बुधवार रात 10 बजे के बाद बंद हो जाएंगी। एक सितंबर से दिल्ली में पुरानी शराब नीति लागू होने जा रही है। पुरानी शराब नीति के तहत दिल्ली में कुल 700 दुकानें खुलेगी। पहले दिन (एक सितंबर) 300 दुकानें खोलने के साथ पुरानी शराब नीति लागू कर दी जाएगी। आबकारी विभाग के मुताबिक दुकानें खुलने के लिए तैयार हैं।

सितंबर माह में कुल 500 दुकानें खोल दी जाएंगी, जबकि 31 दिसंबर तक सभी 700 दुकानें खोलने का लक्ष्य रखा गया है। 1 सितंबर से लागू हो रही पुरानी शराब नीति के तहत कुल 360 ब्रांड की शराब पंजीकृत हो चुकी हैं। इसमें 260 विदेशी ब्रांड की शराब शामिल है। शराब नीति में दुकानों का आकार न्यूनतम 300 वर्गमीटर रखा गया है। सभी एजेंसी को अपने-अपने इलाके में दो-दो प्रीमियम शराब की दुकानें खोलने का भी निर्देश दिया गया है।

नई नीति की CBI जांच

दिल्ली सरकार ने पिछले साल ही अपनी नई एक्साइज पॉलिसी लागू की थी। उपराज्यपाल ने जिस रिपोर्ट को आधार बनाया है, उसमें कहा गया है कि दिल्ली एक्साइज एक्ट और दिल्ली एक्साइज रूल्स का उल्लंघन किया गया। इसके अलावा शराब विक्रेताओं की लाइसेंस फीस भी माफ की गई, जिससे सरकार को 144 करोड़ रुपये के रेवेन्यू का नुकसान हुआ। रिपोर्ट में आबकारी मंत्री की जिम्मेदारी भी निभा रहे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर आरोप लगाया गया है

Edited By – Deshhit News

News
More stories
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड @ 25- आदर्श चम्पावत अन्तर्गत विशेषज्ञों के साथ‘ हिमालयी पारिस्थितिकी तंत्र’ विचार मंथन कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।