Mumbai police: चीनी जासूस होने के संदेह वाले कबूतर को 8 महीने बाद रिहा किया

31 Jan, 2024
Head office
Share on :

एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को बताया कि जिस कबूतर को चीनी जासूस होने का संदेह था और आठ महीने पहले पकड़े जाने के बाद यहां एक पशु अस्पताल की हिरासत में रखा गया था, उसे रिहा कर दिया गया है।

आरसीएफ (राष्ट्रीय रसायन और उर्वरक) पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा, यहां परेल इलाके में बाई सकरबाई दिनशॉ पेटिट हॉस्पिटल फॉर एनिमल्स ने सोमवार को पुलिस से पक्षी को छोड़ने की अनुमति मांगी, जिसके बाद मंगलवार को उसे मुक्त कर दिया गया।

कबूतर को पिछले साल मई में आरसीएफ पुलिस ने उपनगरीय चेंबूर के पीर पाउ जेट्टी में पकड़ा था।

पुलिस ने कहा कि पक्षी के पैर में दो छल्ले बंधे थे – एक तांबे का और दूसरा एल्यूमीनियम का – और उसके दोनों पंखों के नीचे चीनी भाषा जैसी लिपि में संदेश लिखे हुए थे।

उन्होंने कहा कि आरसीएफ पुलिस ने तब मामला दर्ज किया लेकिन जांच पूरी होने के बाद जासूसी का आरोप हटा दिया गया।

अधिकारी ने कहा, मामले की जांच के दौरान, पुलिस को पता चला कि कबूतर ताइवान में खुले पानी में रेसिंग में भाग लेता था और ऐसे ही एक कार्यक्रम में, यह देश से बाहर उड़ गया और भारत में उतरा।

उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा कबूतर की रिहाई के लिए “अनापत्ति” दिए जाने के बाद अस्पताल ने कबूतर को मुक्त कर दिया, उन्होंने कहा कि पक्षी की चिकित्सीय स्थिति ठीक है।

News
More stories
लोकनिर्माण मंत्री सतपाल महाराज ने केंद्रीय वन मंत्री भूपेंद्र यादव को पत्र लिखकर दिया सुझाव
%d bloggers like this: