Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

MP Bus Accident: मप्र के धार जिले में दर्दनाक हादसा, रेलिंग तोड़ नर्मदा नदी में गिरी यात्रियों से भरी बस, 13 की मौत

18 Jul, 2022
Employee
Share on :
mp Bus Accident

Bus Accident in Madhya Pradesh मध्‍य प्रदेश के धार में यात्रियों से भरी एक बस पुल की रेलिंग तोड़कर नर्मदा नदी में गिर गई। 13 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं बस महाराष्ट्र सड़क परिवहन निगम (Maharashtra Road Transport Corporation) की थी। सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया।

नई दिल्ली: मध्‍य प्रदेश के धार जिले के धामनोद खलघाट में यात्रियों से भरी एक बस पुल की रेलिंग तोड़कर नर्मदा नदी में गिर गई। बस में 55 लोग सवार थे, इस हादसे में 13 लोगों की मौत की खबर है। 

मुआवजे का किया ऐलान 

मध्य प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। वहीं प्रधानमंत्री राहत कोष से बस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये दिए जाएंगे जबकि घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया गया है।

लापता लोगों की तलाश जारी 

MP Bus Accident

ताजा मिली जानकारी के अनुसार अब तक 13 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं और अब तक 15 लोगों को बचा लिया गया है। काफी संख्‍या में लोग लापता हैं जिनकी तलाश की जा रही है। दरअसल नर्मदा नदी में पानी का बहाव तेज था ऐसे में कुछ लोगों के डूबने की भी आशंका है।

बचाये गए लोगों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। खलघाट बस हादसे में इंदौर के चंदन नगर निवासी सैफुद्दीन की मौत होने की सूचना है। 

इंदौर से महाराष्ट्र जा रही थी बस

MP Bus Accident

बस महाराष्ट्र सड़क परिवहन निगम की थी, जो इंदौर से महाराष्ट्र जा रही थी, उसे क्रेन की मदद से निकालने का प्रयास किया जा रहा है। इंदौर आयुक्त और अन्य अधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए हैं।

रेलिंग तोड़कर नदी में गिरी बस

बस ने खलघाट में 10 मिनट का ब्रेक लिया था।  आगे बढ़ने पर गलत दिशा से आ रहे वाहन को बचाने के लिए रेलिंग को तोड़ते हुए नदी में गिर गई। हालांकि बारिश की वजह से बचाव कार्य में कठिनाई आ रही है। इसमें इंदौर के सरवटे बस स्टैंड से 12 यात्री सवार हुए थे, इसके साथ ही 7 परिवार और 13 बच्चे होने की जानकारी सामने आ रही है।

इंदौर से महाराष्ट्र जा रही थी बस

बस महाराष्ट्र सड़क परिवहन निगम की थी, जो इंदौर से महाराष्ट्र जा रही थी, उसे क्रेन की मदद से निकालने का प्रयास किया जा रहा है। इंदौर आयुक्त और अन्य अधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए हैं।

jagran

रेलिंग तोड़कर नदी में गिरी बस

बस ने खलघाट में 10 मिनट का ब्रेक लिया था।  आगे बढ़ने पर गलत दिशा से आ रहे वाहन को बचाने के लिए रेलिंग को तोड़ते हुए नदी में गिर गई। हालांकि बारिश की वजह से बचाव कार्य में कठिनाई आ रही है। इसमें इंदौर के सरवटे बस स्टैंड से 12 यात्री सवार हुए थे, इसके साथ ही 7 परिवार और 13 बच्चे होने की जानकारी सामने आ रही है।

पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने जताया दुख

मध्य प्रदेश के धार में हुआ बस हादसा दुखद है, मेरी संवेदनाएं उनके साथ हैं जिन्होंने अपनों को खोया है। बचाव कार्य जारी है और स्थानीय अधिकारी प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं। 

मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि इंदौर से पुणे जा रही महाराष्ट्र रोडवेज की बस धार जिले के खलघाट संजय सेतु से गिरकर 12 लोगों की मौत हो गई, 15 को बचा लिया गया।

धार जिले के खलघाट में इंदौर से पुणे जा रही यात्री बस के नर्मदा नदी में गिरने की हृदय विदारक सूचना प्राप्त हुई है। अब तक बस में सवार 15 यात्रियों का सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया है। घटना स्थल पर रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है।

सीएम शिवराज चौहान ने दिए एसडीआरएफ की टीम भेजने के निर्देश

खालतघा में हुए बस हादसे पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने संज्ञान लिया है। बस के नदी में गिरने की सूचना मिलते ही प्रशासन को जल्द पहुंचने का निर्देश दिया गया। बस को निकालने और उसमें फंसे लोगों को निकालने का काम शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री ने एसडीआरएफ भेजने के निर्देश दिए हैं, साथ ही घटना स्थल पर आवश्यक संसाधन भेजने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री लगातार खरगोन, इंदौर जिला प्रशासन के संपर्क में हैं।

मप्र के सीधी जिले में भी हुआ था ऐसा ही हादसा

16 फरवरी 2021 में मध्‍य प्रदेश के सीधी जिले में यात्रियों से भरी एक बस नहर में गिर गई थी। सतना से सीधी जा रही बस सीधी जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर पटना गांव के पास चालक के साथ नहर में गिरी थी। इस हादसे में 50 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग लापता हो गए थे। घटना के बाद पांच दिन तक लापता लोगों की तलाश की गई थी। नहर के 35 किलोमीटर के दायरे में तलाशी अभियान चलाया गया था।

Edited By – Deshhit News

News
More stories
उत्तराखंड सरकार और विभाग में वृक्षारोपण को लेकर लक्ष्यों में मतभेद !