Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Maharashtra Crisis: शिंदे गुट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, तो ठाकरे खेमे ने भी की पलटवार की तैयारी

27 Jun, 2022
Sachin
Share on :

शिंदे गुट की लिस्ट में सबसे पहला नाम हरीश साल्वे का है, वहीं मुकुल रोहतगी भी शिंदे गुट की तरफ से दलीलें देते नजर आ सकते हैं. जबकि महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर का पक्ष रखने के लिए हैदराबाद के नामी वकील रवि शंकर जांध्याल को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में जारी राजीनीतिक घमासान के बीच संकट गहराता जा रहा है. महाराष्ट्र कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे और उनके साथ कई विधायक के बागी होने के बाद राजनीतिक गलियारों में शुरू हुई उठापटक अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. मामला यह है अभी हालली ही में विधानसभा उपाध्यक्ष द्वारा 16 बागी विधायकों को नोटिस जारी कर दिया था जिसके बाद शिंदे गुट सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है और पार्टी द्वारा उन्हें अयोग्य घोषित करने वाली याचिका को चुनौती देते हुए एक याचिका दायर की है. इसके साथ ही एक और याचिका दायर की गई है, जिसमें विधानसभा में शिवसेना विधायक दल के नेता और चीफ व्हिप की नियुक्तियों में बदलाव को चुनौती दी गई है.     

बताया जा रहा है कि टीम शिंदे द्वारा दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुबह साढ़े दस बजे ही अवकाशकालीन पीठ और  रजिस्ट्रार के सामने अर्जेंट सुनवाई के लिए मेंशन किए जाने की उम्मीद है. अगर यह मामला सुप्रीम कोर्ट तत्काल प्रभाव से लेता है तो टीम शिंदे और मजबूत और जाएगी. शिवसेना कोटा से मंत्री बनाए गए 9वें विधायक उदय सामंत भी बागी गुट में शामिल हो गए. रविवार को उन्होंने गुवाहाटी की फ्लाइट पकड़ी, जिसकी तस्वीरें भी सामने आई हैं. उदय सामंत के बागी कैंप में शामिल होने के साथ ही महाराष्ट्र में सत्ता संग्राम और तेज होता दिखाई दे रहा है.   

कौन हैं शिंदे गुट के वकील

मीडिया की खबरों के अनुसार कोर्ट में मजबूती से दलील पेश करने के लिए वकीलों की फौज खड़ी कर दी गई. शिंदे गुट की लिस्ट में सबसे पहला नाम हरीश साल्वे का है, वहीं मुकुल रोहतगी भी शिंदे गुट की तरफ से दलीलें देते नजर आ सकते हैं. इनके साथ ही मनिंदर सिंह और महेश जेठमलानी भी शिंदे गुट का पक्ष रखेंगे. जबकि महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर का पक्ष रखने के लिए हैदराबाद के नामी वकील रवि शंकर जांध्याल को जिम्मेदारी सौंपी गई है. सुप्रीम कोर्ट में दलील पेश करने से पहले रवि शंकर मुंबई पहुंचे हैं, जहां उन्होंने उद्धव ठाकरे से मुलाकात भी की.

सुप्रीम कोर्ट में दलील रखने वाले शिंदे गुट की लिस्ट में सबसे पहला नाम हरीश साल्वे का है

और यह भी पढ़ें- भारत को नेहरू, इंदिरा, राजीव जैसे नेताओं के खून पसीने से बनाया गया था, जिसका आधार लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता है: महबूबा

कौन हैं उद्धव गुट के वकील

वकीलों की फौज तैयार करने में उद्धव गुट ने भी फिलहाल के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी है और देश के जाने माने वकील और नेता कपिल सिब्बल को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है. माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के दिग्गज एडवोकेट अभिषेक मनु सिंघवी भी उद्धव गुट की तरफ से पेश होंगे. इनके साथ ही वकीलों की लिस्ट में राजीव धवन और देवदत्त कामत भी नाम है. ये दोनों दिग्गज सुप्रीम कोर्ट में उद्धव ठाकरे गुट का पक्ष रखेंगे.

उद्धव गुट ने वकीलों की कोई कमी नहीं छोड़ी है और देश के जाने माने वकील और नेता कपिल सिब्बल को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है

वकीलों की राय

वरिष्ठ अधिवक्ता देवदत्त कामत ने कहा कि शिवसेना छोड़ने वाले विधायक अभी तक किसी पार्टी में शामिल नहीं हुए हैं. इसलिए, जब तक वे किसी भी पार्टी में शामिल नहीं होते हैं और विलय नहीं करते हैं, उन्हें शिवसेना के बागी विधायक माने जाएंगे. इसलिए वे कार्रवाई के पात्र हैं. उन्होंने यह भी कहा है कि शिवसेना इन विधायकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. साथ ही पार्टी नेताओं को पार्टी अनुशासन के लिए विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने का अधिकार है. कानून भी यह अधिकार देता है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
Agneepath Yojana के क्या है मायने ? किसी ने बोला सही, तो किसी ने गलत | Mukherjee Nagar