Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

महाराष्ट्र में बढ़ा लाउडस्पीकर विवाद, सांसद नवनीत राणा ने कहा मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा पढूंगी, शिवसेना को दिया चेलेंज

23 Apr, 2022
Sachin
Share on :

महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है हनुमान चालीसा को लेकर अब नेता से लेकर आम जन में भी ऐसी भावना जागरूक होने लगी है कि वह भी अब लाउडस्पीकर लगाकर हनुमान चालीसा पढेंगे. वहीं, अब अमरावती से सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान कर दिया है.

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है हनुमान चालीसा को लेकर अब नेता से लेकर आम जन में भी ऐसी भावना जागरूक होने लगी है कि वह भी अब लाउडस्पीकर लगाकर हनुमान चालीसा पढेंगे. वहीं, अब अमरावती से सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान कर दिया है, शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को उनके घर के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया. उग्र शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बैरिकेडिंग तोड़ कर घर में घुसने का प्रयास भी किया, जिसके बाद पुलिस ने कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया. इधर प्रदर्शन के बीच राणा ने फेसबुक लाइव कर एक वीडियो साझा किया है. जिसमें राणा दंपति पूजा करते नज़र आ रहे हैं.

सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा

और यह भी पढ़ें- Loudspeaker controversy: राज ठाकरे ने दी चेतावनी तो उद्धव सरकार आई हरकत में, बिना इजाजत के नहीं लगेगा लाउडस्पीकर

वीडियो में कहा गया है कि हम पवनपुत्र हनुमान और श्री राम का आशीर्वाद लेकर महाराष्ट्र के उन्नति के लिए हनुमान चालीसा पढ़ना चाहते हैं. किसान, मजदूर और बेरोज़गारी के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने के बाद पूरे महाराष्ट्र पर शनि लग गया है. इसलिए शनिवार के दिन हम मातोश्री जा कर यह काम करना चाहते हैं और साथ ही उन्होंने कहा कि मातोश्री हमारा हॄदयस्थान है.. बालासाहब ठाकरे हमारे भगवान हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

इससे पहले नवनीत ने मीडिया से बात की थी

इससे पहले नवनीत राणा ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि वे शनिवार को उपनगरीय बांद्रा में ठाकरे के निजी आवास ‘मातोश्री’ के बाहर पहुंचेंगे और वहां पर हम हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे. इस बीच जैसे ही, पुलिस को इसकी सूचना मिली तो पुलिस ने तत्काल प्रभाव से ‘मातोश्री’ के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया है. मुंबई में ‘मातोश्री’ के बाहर पूर्व मेयर और शिवसेना नेता किशोरी पेडनेकर ने कहा कि हम इंतजार कर रहे हैं, हम हनुमान चालीसा सामने रखेंगे. हम उन्हें सबक सिखाने का इंतजार कर रहे हैं.

मुम्बई की पूर्व मेयर और शिवसेना नेता किशोरी पेडनेकर

सांसद राणा ने कहा हिंदुत्व भूल गई है शिवसेना

राणा ने कहा कि हमने जब कहा था कि हमें शिवसेना के कुछ नेताओं ने धमकी दी है कि अगर हम मुंबई आए तो वापस अपने पैर पर नहीं जा पाएंगे और देखिए हम मुंबई में भी आ गए हैं और साथ ही हम ज़िंदा भी हैं, इसके अलावा हम आपके सामने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर रहे हैं. राणा ने आगे कहा कि हम बचपन से लेकर अबतक हिंदू हृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे को देखकर बड़े हुए हैं, लेकिन जो इस समय की शिवसेना है वो लगता है अपना हिंदुत्व भूल गई है.

शिवसेना के नेता कुछ नहीं बिगाड़ सकते हैं हमारा

नवीनत राणा ने शिवसेना पर हमला करते हुए आगे कहा कि शिवसेना के लोग मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकते, उन लोगों ने कहा था कि मुंबई में हम आए तो वापस आपने पैरों पर नहीं जाएंगे, ऐसे कुछ असामाजिक तत्वों का समर्थन मुख्यमंत्री कर रहे हैं. मुझे लगता है कि मुख्यमंत्री मेच्योर बातें नहीं करते हैं और शिवसैनिक ही लॉ एंड ऑर्ड़र का पालन नहीं कर रहे हैं. हम दोनो कल जाएंगे और हमें हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए अगर कोई मुर्दाबाद कहे तो हमें वो भी मंजूर है.

निर्दलीय लोकसभा सांसद नवनीत राणा के घर के बाहर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन
News
More stories
क्या प्रशांत किशोर पाना चाहते हैं कांग्रेस में शीर्ष पद?