Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

अयोध्या के राममंदिर क्षेत्र में नहीं बिकेगी शराब, सरकार ने रद्द किए सभी दुकानों के लाइसेंस

01 Jun, 2022
Sachin
Share on :

अगर मानकों के उल्लंघन की आपत्ति आएगी तो जांच कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर परिसर के आसपास की शराब की दुकानों को सरकार ने हटवा दिया है.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के आबकारी विभाग ने राममंदिर क्षेत्र की शराब दुकानों को लेकर बड़ा फैसला किया है. दरअसल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नितिन अग्रवाल ने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए जानकारी दी कि अयोध्या में ‘श्री राम मंदिर’ क्षेत्र की सभी शराब की दुकानों के लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं. बहुजन समाज पार्टी के सदस्य भीमराव अंबेडकर ने आबकारी दुकान नियम, 1968 में किए गए संशोधनों की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी थी. जिसके जवाब में राज्य मंत्री ने अपना जवाब दिया कि अनसूचित जाति बहुल इलाकों में मदिरा की दुकानों को लाइसेंस दिए जाने या संचालन किए जाने पर कोई पाबंदी नहीं है।

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नितिन अग्रवाल

और यह भी पढ़ें- सीएम योगी ने रखा राम मंदिर के गर्भगृह का पहला पत्थर, बोले- ये पिछले 500 वर्षो के आन्दोलन का फल है

आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गर्भ गृह के निर्माण के बाबत पहली शिला रखी. आदित्यनाथ गर्भगृह में पहला नक्काशीदार पत्थर रख कर समारोह में हिस्सा लिया. मीडिया की ख़बरों के अनुसार इस अवसर पर देश भर से संतों को आमंत्रित किया गया है. विश्व हिंदू परिषद के नेता शरद शर्मा के अनुसार, राम मंदिर का गर्भगृह लाल पत्थरों से तैयार किया जाएगा, जो कि माना जाता है कि यह “बहुत शुभ होता है.

ट्रस्ट के अनुसार, मंदिर का गर्भगृह जनवरी 2024 तक तैयार हो जाएगा, जहां भगवान राम की मूर्ति रखी जाएगी और लोग पूजा करने के लिए बड़ी संख्या में उमड़ेंगे. राम मंदिर के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा, “भक्त एक विशाल और सुंदर मंदिर की उम्मीद कर रहे हैं. मंदिर का निर्माण इस तरह से किया जा रहा है कि जब सूर्योदय हो तो पहली किरण भगवान राम की मूर्ति पर पड़े.”

संगम क्षेत्र में भी उठ रही मांग

आपको बता दें कि विश्व हिन्दू परिषद ने भी प्रयागराज में संगम के 5 किमी के दायरे में मांस और शराब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है और साथ ही इस बारे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी गई है. इस चिट्ठी में लिखा गया है कि, अगर सरकार ने जल्द ही इस मांग पर गौर नहीं किया तो जरुरत पड़ने पर अदालत का दरवाजा भी खटखटाया जाएगा. हिन्दू परिषद के काशी प्रांत के गौ रक्षा विभाग के मंत्री लालमणि तिवारी ने चिट्ठी में कहा है कि, मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि के आस-पास दस किलोमीटर के क्षेत्र को भी धर्म स्थान मानते हुए मांस-मदिरा की बिक्री और इस्तेमाल पर पाबंदी लगी हुई है.

राममंदिर के आसपास के इलाकों में प्रशासन ने शराब के ठेकों के लाइसेंस किए रद्द

अगर मानकों के उल्लंघन की आपत्ति आएगी तो जांच कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर परिसर के आसपास की शराब की दुकानों को सरकार ने हटवा दिया है.

News
More stories
शशि थरूर ने शेयर किया वर्ड ऑफ एरा, सोशल मीडिया पर छिड़ी जंग, लोग पूछ रहे हैं मतलब