Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

कर्नाटक: ठेकेदार की मौत, मंत्री ईश्वरप्पा के खिलाफ एफआईआर दर्ज, कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

13 Apr, 2022
Sachin
Share on :

केएस ईश्वरप्पा पर एक ठेके के लिए 40 फीसदी कमीशन मांगने का आरोप लगाने वाला ठेकेदार कल सुबह उडुपी के एक लॉज में मिला मृत था. पंचायत राज मंत्री ईश्वरप्पा के खिलाफ आईपीसी (IPC) की धारा 306 के तहत आत्महत्या को उकसाने के लिए उडुपी थाने में मामला दर्ज हुआ है. पीड़ित के परिवारों वालो ने मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है.

नई दिल्ली: केएस ईश्वरप्पा पर एक ठेके के लिए 40 फीसदी कमीशन मांगने का आरोप लगाने वाला ठेकेदार कल सुबह उडुपी के एक लॉज में मृत मिला था. जिसके बाद कर्नाटक के पंचायत राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा की मुश्किलें बढ़ गई. इस केस की सारी सुई ईश्वरप्पा की ओर जा रही है जिसके बाद उनके खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. मुख्य विपक्षी कांग्रेस अब उनपर निष्पक्ष कार्रवाई की मांग उठा रहा है. ठेकेदार ने अपने सुसाइड नोट में केएस ईश्वरप्पा को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है. इस मामले में ईश्वरप्पा के साथी बसवराज और रमेशा का नाम भी शामिल है. एफआईआर ठेकेदार संतोश पाटिल के भाई प्रशांत की शिकायत के बाद दर्ज की गई है. इस केस के खुलने के बाद अब कर्नाटक में राजनीतिक पारा चढ़ गया है. ठेकेदार की मौत के मामले में कांग्रेस ने मंत्री केएस ईश्वरप्पा का इस्तीफा मांगा है. मंत्री ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि इसका तो सवाल ही नहीं उठता.

कर्नाटक के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्य मंत्री केएस ईश्वरप्पा

और यह बी ही पढ़ें- Hijab ban: कर्नाटक के मुख्य न्यायाधीश को मिली जान से मारने की धमकी

ईश्वरप्पा के खिलाफ एफआईआर दर्ज

पंचायत राज मंत्री ईश्वरप्पा के खिलाफ आईपीसी (IPC) की धारा 306 के तहत आत्महत्या को उकसाने के लिए उडुपी थाने में मामला दर्ज हुआ है. पीड़ित के परिवारों वालो ने मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. इस घटना के घटित होने के बाद पुलिस की कार्रवाई में ठेकेदार की बॉडी के पास मिले सुसाइड नोट्स में ईश्वरप्पा और उनके दो सहयोगियों के नाम भी शामिल हैं अब इन सभी के खिलाफ प्राथमिकी एफआईआर दर्ज हुई है और उनके नाम बसवराज और रमेश हैं.

ठेकेदार संतोष पाटिल

क्या है मामला?

बेलगावी जिले के रहने वाले संतोष पाटिल ने आरोप लगाया था कि ईश्वरप्पा ने जो 4 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट दिलाया था, उसमें से वह 40 प्रतिशत की कमीशन मांग रहा था. मौत से पहले पाटिल ने सोशल मीडिया पर एक मैसेज में इसके लिए मंत्री को जिम्मेदार ठहराया था. मंत्री ईश्वरप्पा ने न केवल इन आरोपों का खंडन किया था बल्कि पाटिल को मानहानि का नोटिस भी भेज दिया था.

कर्नाटक के राज्यपाल से मिले कांग्रेस के नेता

कर्नाटक के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया सहित कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल, कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद गहलोत को पत्र लिखकर ठेकेदार संतोष पाटिल की मृत्यु पर राज्य मंत्री केएस ईश्वरप्पा को बर्खास्त करने की मांग की है.

कर्नाटक के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार

ईश्वरप्पा से इस केस में पूरी बात होगी: सीएम बोम्मई

कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा कि ठेकेदार संतोष पाटिल की मौत के मामले में मंत्री ईश्वरप्पा के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. हमने इस केस की सारी जानकारी इकट्ठा कर ली है. मैं ईश्वरप्पा से बात करूंगा, अभी मुझे नहीं पता कि उन्होंने इस्तीफे के बारे में क्या कहा है. जब हम सीधे प्रत्यक्ष रूप से वार्तालाप करेंगे तो सब साफ हो जाएगा कि पूरा मामला क्या है.

कर्नाटक की मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई
News
More stories
नींबू 300 के पार: गर्मियों में बढ़ें नींबू के दाम तो लोगों के हुए दांत खट्टे, बने मीम्स