वैश्विक अर्थव्यवस्था के तीसरी क्रम में जापान ने खो दिया अपना ख़िताब !

19 Feb, 2024
Head office
Share on :

जापान की अर्थव्यवस्था में गिरावट: हाल ही में, जापान की अर्थव्यवस्था में गिरावट देखी गई है, जिसके परिणामस्वरूप यह वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक स्थान नीचे खिसक गया है। हाल ही में जारी आधिकारिक आंकड़ों से पता चला कि जापान, जिसे कभी दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का खिताब मिलने की उम्मीद थी पिछले साल जर्मनी के बाद चौथे स्थान पर आ गया। हालाँकि, अनुमानों से संकेत मिलता है कि भारत इस दशक के अंत में दोनों देशों को पछाड़कर तीसरा स्थान हासिल करने की ओर अग्रसर है।

इस गिरावट के कुछ मुख्य कारण हैं:कम जन्म दर और बूढ़ी आबादी: जापान की आबादी तेजी से बूढ़ी हो रही है और जन्म दर कम हो रही है। इसका मतलब है कि श्रमिकों की संख्या कम हो रही है और अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए कम लोग हैं।

कमजोर मुद्रा: जापानी येन का मूल्य कम हो गया है, जिससे आयात महंगा हो गया है और मुद्रास्फीति बढ़ गई है।

वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता: 

वैश्विक अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता के कारण जापानी कंपनियां कम निवेश कर रही हैं।

इस गिरावट के परिणामस्वरूप, जापान मंदी की ओर बढ़ रहा है। मंदी एक ऐसी स्थिति है जब अर्थव्यवस्था लगातार दो तिमाहियों तक सिकुड़ती है।

मंदी के कुछ संभावित परिणाम हैं:

  • बेरोजगारी में वृद्धि: कम कंपनियों के निवेश करने और नौकरियां पैदा करने के कारण बेरोजगारी बढ़ सकती है।
  • व्यवसायों में गिरावट: कम ग्राहकों के खर्च करने के कारण व्यवसायों को बंद करना पड़ सकता है।
  • सरकारी राजस्व में कमी: कम करों के कारण सरकार को कम राजस्व प्राप्त होगा, जिससे सार्वजनिक सेवाओं में कटौती हो सकती है।

जापान सरकार इस गिरावट को रोकने के लिए कई उपाय कर रही है। इन उपायों में शामिल हैं:

  • राजकोषीय प्रोत्साहन: सरकार अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए बुनियादी ढांचे और अन्य परियोजनाओं में निवेश कर रही है।
  • मुद्रा नीति: बैंक ऑफ जापान ब्याज दरों को कम रख रहा है ताकि उधार लेना सस्ता हो सके और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिल सके।
  • संरचनात्मक सुधार: सरकार श्रम बाजार और अन्य क्षेत्रों में सुधार कर रही है ताकि अर्थव्यवस्था अधिक प्रतिस्पर्धी बन सके।

यह निश्चित रूप से कहना मुश्किल है कि जापान की अर्थव्यवस्था कब तक मंदी में रहेगी।

हालांकि, सरकार द्वारा किए जा रहे उपायों से अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में मदद मिल सकती है।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है:

जापान की अर्थव्यवस्था दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और यह एक मजबूत और लचीला देश है।

जापान सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए प्रतिबद्ध है।

वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार से जापान की अर्थव्यवस्था को भी मदद मिलेगी।

Written BY : Deshhit News Team

#जापान #अर्थव्यवस्था #गिरावट #चौथा_स्थान #भारत #मंदी #बेरोजगारी #व्यवसाय #सरकार #सुधार

News
More stories
उत्तर प्रदेश पुलिस पेपर लीक होने की सच्चाई क्या है?
%d bloggers like this: