Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

IPL 2022: ऋषभ पंत को मिली ‘आगबबूला’ होने की सजा, आखिरी ओवर में नो-बॉल को लेकर हुआ ड्रामा

23 Apr, 2022
Sachin
Share on :

आईपीएल की आचार संहिता के उल्लंघन के लिए ऋषभ पंत, शार्दुल ठाकुर और प्रवीण आमरे पर जुर्माना लगा है. एक ओर जहां प्रवीण आमरे पर एक मैच के लिए बैन लगाया गया है तो वहीं दूसरी ओर पंत पर मैच फीस का 100 फीसदी जुर्माना लगाया गया है और साथ ही शार्दुल ठाकुर पर मैच फीस के 50 फीसदी का जुर्माना लगाया गया है.

नई दिल्ली: राजस्थान के खिलाफ हो रहे मैच के दौरान दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत ने अंपायर के फैसले पर नाराजगी जताते हुए क्रीज पर मौजूद बल्लेबाजों को वापस बुलाने का इशारा किया था. वहीं, दूसरी ओर टीम के बॉलर शार्दुल ठाकुर भी अपने कप्तान का साथ देते हुए अंपायर के फैसले पर अपनी नाराजगी जाहिर करते दिखे. यही नहीं टीम के बैटिंग कोच ने तो एक कदम आगे बढ़कर कप्तान ऋषभ के कहने पर मैदान के अंदर जाकर अंपायर से बहस करते हुए दिखे. इन सभी विवादों के बीच अब सभी सदस्यों को आईपीएल गर्वर्निंग काउंसिल की ओर से सजा दी गई है.

लास्ट ओवर की तीसरी गेंद आई फुल टॉस पर डीसी के कप्तान खिलाड़ी को वापिस बुलाते दिखे

और यह भी पढ़ें-टी20 क्रिकेट में Shikhar Dhawan ने रचा इतिहास ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय बल्लेबाज!

ऋषभ ने कहा कि वो गेंद हमारे लिए बहुत खास थी. वह नो बॉल थी. उसे चेक किया जाना चाहिए था. हम लोग बहुत निराश हैं लेकिन अब हम इस बारे में कुछ नहीं कर सकते. सभी लोग हताश हैं क्योंकि वह साफ तौर पर नो बॉल नजर आ रही थी. ग्राउंड पर मौजूद हर किसी ने इसे देखा था. मुझे लगता है कि थर्ड अंपायर को इसमें दखल देना चाहिए था और उसे नो बॉल करार देना था.  

आपको बता दें कि दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 6 गेंद पर 36 रन की दरकार थी. क्रीज पर रोवमेन पावेल खड़े थे और गेंदबाजी का जिम्मा ओबेद मैकॉय पर था. मैकॉय के ओवर की शुरुआत की तीन गेंदों पर रोवमेन ने तीन छक्के जड़कर दिल्ली के जीत की आस जगा दी थी. कप्तान ऋषभ का कहना है कि मैकॉय की तीसरी गेंद फुलटॉस थी और यह कमर के ऊपर साफ़ जाती दिखाई दे रही थी, इस पर रोवमेन ने छक्का तो जड़ा लेकिन इसके साथ ही डगआउट में बैठे दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ियों और स्टाफ ने इसे नो बॉल नहीं दिए जाने पर नाराजगी जताई.

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी रोवमेन पावेल

लास्ट ओवर की तीसरी गेंद को नो-बॉल न दिए जाने और साथ ही राजस्थान की इस जीत पर दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत बेहद नाराज दिखाई दिए,  दिल्ली कैंप के मुताबिक ‘नो बॉल’ दी जानी चाहिए थी. दिल्ली की शिकस्त के बाद ऋषभ ने हार का ठीकरा भी इसी बॉल पर फोड़ा.

आईपीएल की आचार संहिता के उल्लंघन के लिए ऋषभ पंत, शार्दुल ठाकुर और प्रवीण आमरे पर जुर्माना लगा है. एक ओर जहां प्रवीण आमरे पर एक मैच के लिए बैन लगाया गया है तो वहीं दूसरी ओर पंत पर मैच फीस का 100 फीसदी जुर्माना लगाया गया है और साथ ही शार्दुल ठाकुर पर मैच फीस के 50 फीसदी का जुर्माना लगाया गया है. दिल्ली कैपिटल्स के सहायक कोच प्रवीण आमरे पर मैच फीस का 100 प्रतिशत जुर्माना लगा है और इस अपराध के लिए उन पर एक मैच का प्रतिबंध भी लगाया गया है. आमरे ने आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2 के तहत लेवल 2 के अपराध को स्वीकार कर लिया है.

दिल्ली कैपिटल्स के बैटिंग कोच प्रवीन आमरे
News
More stories
छत्तीसगढ़ :आंदोलनरत विद्युत् संविदा कर्मचारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज,15 घायल