Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

महंगाई कि मार, 25 रूपये लीटर डीजल हुआ महंगा, किस पर पड़ेगा असर !

20 Mar, 2022
Employee
Share on :

पिछले तीन महीने से भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़े थे तो दूसरी ओर ये भी कहा जा रहा है कि ये दाम चुनाव के कारण नहीं बढ़ें थे

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डीजल-पेट्रोल की कीमत लगभग 40 प्रतिशत कि बढ़ोतरी हुई है जिसका असर भारत पर भी देखना को मिल रहा है. पिछले तीन महीने से भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़े थे तो दूसरी ओर ये भी कहा जा रहा है कि ये दाम चुनाव के कारण नहीं बढ़ें थे. अभी फिलहाल आम जनता को डीजल-पेट्रोल पुराने रेट में मिल रहा है. लेकिन आने वाले कल को इसमें 25 रुपये कि बढ़ोतरी होगी.

भारत में 25 रुपये लीटर डीजल होगा महंगा

और यह भी पढ़े- भारत-जापान 14 वां शिखर सम्मलेन: जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने यूक्रेन हमले पर क्या कहा ?

इस महीने पेट्रोल पंपों की बिक्री में 20 प्रतिशत का उछाल आया है. बस परिचालकों और मॉल जैसे थोक उपभोक्ताओं ने पेट्रोल पंपों से ईंधन खरीदा. आमतौर पर वे पेट्रोलियम कंपनियों से सीधे ईंधन की खरीद करते हैं. इसलिए ईंधन की खुदरा बिक्री करने वाली कंपनियों का नुकसान बढ़ा है. सबसे अधिक प्रभावित नायरा एनर्जी, जियो-बीपी और शेल जैसी कंपनियां को हुआ है. बिक्री बढ़ने के बावजूद इन कंपनियों ने अभी तक मात्रा में कमी नहीं की है.

अभी फिलहाल महानगरों में बल्क यूजर्स और आम उपभोक्ता के प्राइस में अंतर है वर्तमान स्थिति देखें तो दिल्ली में बल्क यूजर्स के लिए डीजल का दाम 115 रुपये पर पहुंच गया है. वहीं, पेट्रोल पंपों पर डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर की दर से बिक रहा है. मुंबई में बल्क यूजर्स को बेचे जा रहे डीजल का दाम बढ़कर 122.05 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया है, जबकि पेट्रोल पंपों पर बिक रहा डीजल का दाम 94.14 रुपये प्रति लीटर है.

पिछले तीन महीने से पेट्रोल-डीजल के दाम में नहीं हुई कोई बढ़ोतरी

अब सवाल उठता है कि अगर देश में डीजल के प्राइस में 25 रुपये कि बढ़ोतरी होगी तो किस अपर असर पड़ सकता है आपको बताते चले कि डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का असर सिर्फ थोक विक्रेताओं पर पड़ने वाला है. इस थोक विक्रेताओं में सरकारी बस के बेड़े, मॉल, हवाई अड्डों, बिजली पैदा करने वाली इंडस्ट्री शामिल हैं, जो बड़ी मात्रा में डीजल की खरीदारी करते हैं. रविवार को भी तेल कंपनियों ने आम जनता के लिए पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया। तेल कंपनियों ने 137वें दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमत को अपरिवर्तित रखा है.

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल का दाम 131 प्रति डॉलर बैरल पहुंचा

ज्यादातर डीजल के इस्तमाल बड़ी कंपनियां और हैवी व्हीकल करते हैं. अगर डीजल पर प्राइस बढ़ते हैं तो महंगाई भी साफतौर पर देखने को मिलगी क्योंकि रेट बढ़ने से ट्रांसपोर्ट पर इसका असर दिखेगा, ट्रांसपोर्ट वाले माल ढूलाई वालो से अधिक पैसे लेंगे, अगर वह ऐसा करेंगे तो खाद्य वस्तुओं पर भी रेट बढ़ सकते हैं ये तो साफ़ है कि पेट्रोल-डीजल कि कीमतों पर असर होगा तो महंगाई बढ़ना तय है.

News
More stories
Holi Bhai Dooj 2022 : जानिए भाई दूज के शुभ मुहूर्त से लेकर महत्व तक की पूरी जानकारी