Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

मैं समंदर हूं, लौटकर वापस आऊंगा… बतौर CM वापसी की संभावनाओं पर बोले देवेंद्र फडणवीस

30 Jun, 2022
Sachin
Share on :

साल 2018 में बीजेपी से इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए नाना पटोले को एक दिसंबर 2019 को महाराष्ट्र विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया. जिस दौरान महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने अपने दिल का दर्द शायराना अंदाज में बयां करते हुए कहा ‘मेरा पानी उतरते देख, मेरे किनारे पर घर मत बना लेना. मैं समन्दर हूं, लौट कर जरूर आऊंगा.

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक घमासान के बीच बुधवार की शाम उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे देने का ऐलान कर दिया और इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी के खेमे में जश्न बनाना शुरू हो गया. मुंबई के ताज होटल में बीजेपी नेता मिठाई बांटते और नारे लगाते दिखे. जहाँ देवेंद्र फडणवीस मौजूद थे.

देवेंद्र फडणवीस का ट्विट हुआ वायरल

बात साल 2019 की जब महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव हुए थे. तब बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा था, इस दौरान बीजेपी प्रदेश में 105 सीटें जीती और वह नंबर पार्टी बनकर उभरी, वहीं शिवसेना ने 56 सीटें जीतकर नंबर दो पर रही. उस दौरान यह तय माना जा रहा था कि एक बार फिर महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बनेगी और देवेंद्र फडणवीस प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालेंगे. फिलहाल समन्वय के सही नहीं बैठने के कारण शिवसेना और बीजेपी में दरार बढ़ गई और राज्य में तीसरे और चौथे नंबर पर रही पार्टी एनसीपी और कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन देकर सरकार बना ली जिसके बाद सीएम पद के लिए शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे को चुन लिया गया.

वहीं, साल 2018 में बीजेपी से इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए नाना पटोले को एक दिसंबर 2019 को महाराष्ट्र विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया. जिस दौरान महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने अपने दिल का दर्द शायराना अंदाज में बयां करते हुए कहा ‘मेरा पानी उतरते देख, मेरे किनारे पर घर मत बना लेना. मैं समन्दर हूं, लौट कर जरूर आऊंगा.

महाराष्ट्र विधानसभा का गणित

288 सीटों वाले महराष्ट्र विधानसभा में इस वक्त एक सदस्य के निधन के कारण 287 विधायक मौजूद हैं. ऐसे में बहुमत का आंकड़ा 144 सीटों का है. बीजेपी के पास 106 विधायक हैं. वहीं, शिंदे गुट के पास 39 विधायक है. 12 निर्दलीय विधायकों का समर्थन भी बीजेपी को प्राप्त है. इसके अलावा बीवीए के 3 और एमएनएस के 1 विधायक भी बीजेपी खेमे में हैं. इस तरह बीजेपी का कुल आंकड़ा 161 पर पहुंच गया है. वहीं, विपक्ष में शिवसेना के 16, एनसीपी के 53, कांग्रेस के 44, समाजवादी पार्टी के 2 विधायक हैं. इसके अलावा AIMIM के 2, निर्दलीय 2 विधायक हैं. यानी विधानसभा का गणित अब पूरी तरह से बीजेपी के साथ है. अगर शिवसेना का बागी खेमा वोटिंग के दौरान अनुपस्थित रहता है तो बहुमत का आंकड़ा घटकर 124 पर आ जाएगा. बताया जा रहा है कि उस स्थिति में भी बीजेपी आसानी से बहुमत पा लेगी.

एकनाथ शिंदे के पास 39 विधयाकों का समर्थन प्राप्त है अब बीजेपी के साथ गठबंधन कर सरकार बनाएंगे

और यह भी पढ़ें- राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना, बोले-PM का गब्बर सिंह टैक्स बना गृहस्थी सर्वनाश टैक्स

शिंदे खेमे को क्या मिलेगा

माना जा रहा है कि एकनाथ शिंदे को राज्य में डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है. उनको कुछ अहम विभागों की जिम्मेदारी भी मिल सकती है. इसके अलावा उद्धव सरकार में मंत्री रहे सभी विधायकों को बीजेपी सरकार में मंत्री बनाया जाएगा. इसके अलावा कुछ और शिंदे समर्थकों को मंत्री पद दिया जा सकता है. फडणवीस ने कहा था कि वो सरकार बनाने की प्रक्रिया जल्द शुरू करेंगे.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना, बोले-PM का गब्बर सिंह टैक्स बना गृहस्थी सर्वनाश टैक्स