Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

तमिलनाडु में भीषण हादसा, रथयात्रा में करंट से 2 बच्चों समेत 11 की मौत, दर्जनों घायल

27 Apr, 2022
Sachin
Share on :

तिरुचिरापल्ली मध्य क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक, वी बालकृष्णन ने बताया कि तंजावुर जिले में एक मंदिर की कार (रथ उत्सव की) एक लाइव वायर के संपर्क में आने से अब तक 11 लोगों की मौत हो गई और 15 अन्य घायल हो गए.

तमिलनाडु: तमिलनाडु के तंजावुर जिले के एक भयंकर हादसे की खबर सामने आई है. एक मंदिर में बुधवार सुबह रथयात्रा जुलूस के दौरान करंट लगने से कम से कम 11 लोगों की  मौत हो गई और मरने वालों में 2 बच्चे भी शामिल हैं. पुलिस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह घटना उस समय हुई जब लोग मंदिर की पालकी पर खड़े थे, कहा जा रहा है कि पालकी कालीमेडु के अप्पर मंदिर में एक हाई-ट्रांसमिशन लाइन के संपर्क में आ गई. जिसके कारण पूरी पालकी में करंट फेल गया और जो भी लोग पालकी में खड़े थे वह सभी लोग करंट की चपेट में आ गए. वहीं इस घटना को लेकर अधिकारियों ने कहा कि मंदिर की पालकी को मोड़ने के समय ओवरहेड लाइन के संपर्क में आने के कारण यह भीषण हादसा हुआ.

रथयात्रा में करंट से 2 बच्चों समेत 11 की मौत, दर्जनों घायल

और यह भी पढ़ें- Pakistan: कौन हैं शाहबाज शरीफ, जो इमरान के बाद प्रधानमंत्री बनने जा रहे है, जानिए उनका राजनीतिक इतिहास

पुलिस के आला अधिकारियों ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि मारे गए लोगों में दो बच्चे भी शामिल हैं साथ ही गंभीर रूप से झुलसे तीन सहित 15 लोगों को इलाज के लिए पास ही के तंजावुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है.

घटना के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने तंजावुर जिले के कालीमेडु गांव में रथ दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. सूत्रों के हवाले से पता चला है कि मुख्यमंत्री ने कहा कि वह आज सुबह करीब 11 बजकर 30 मिनट पर दुर्घटनास्थल पर पहुंचेंगे.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन

तिरुचिरापल्ली मध्य क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक, वी बालकृष्णन ने बताया कि तंजावुर जिले में एक मंदिर की कार (रथ उत्सव की) एक लाइव वायर के संपर्क में आने से अब तक 11 लोगों की मौत हो गई और 15 अन्य घायल हो गए. इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है और साथ ही जांच अभी जारी है.

तिरुचिरापल्ली मध्य क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक, वी बालकृष्णन

बुधवार की सुबह शहर की सड़कों पर पारंपरिक रथ यात्रा निकाली गई. जहां सैकड़ों भक्तों के बीच भगवान की पालकी को खींचने की होड़ मच गई, तभी पालकी एकाएक बिजली का एक हाई टेंशन तार की चपेट में आ गई. जिसकी वजह से पूरे रथ में करंट दौड़ गया. इससे मौके पर ही 2 बच्चों सहित 11 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों लोग घायल हो गए.

बच गई कई लोगों की जान

करंट दौड़ने से भीड़ में मौजूद कई लोग घायल हो गए है. जिसके बाद वहां मौजूद अन्य लोगों ने तत्काल प्रभाव से प्रशासन इस घटना की सूचना दी और वह तुरंत वहां पहुंचे और भक्तों ने प्रशासन की मदद से घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया जहां उनका इलाज किया जा रहा है. इस घटना को लेकर पुलिस जांच में जुट गई है. मिली जानकारी के मुताबिक इस घटना में और अधिक लोगों की मौत हो सकती थी लेकिन काफी संख्या में लोग बच गए. दरअसल, जिस वक्त रथ में करंट दौड़ा था उसी दौरान सड़क पर गड्डा होने के कारण ये लोग पीछे रह गए और इस कारण इन लोगों की जान बच गई.

News
More stories
सीएम धामी ने केदारनाथ धाम के निर्माण कार्य के निरिक्षण के बाद, सिद्धपीठ कालीमठ मंदिर में की पूजा-अर्चना