Girija Devi Temple: धामी सरकार ने गर्जिया मंदिर के टीले को बचाने के लिए 5.79 करोड़ रुपये मंजूर किए

15 Mar, 2024
Head office
Share on :
Girija Devi Temple

कोसी नदी की बाढ़ से मंदिर को बचाने के लिए सुरक्षात्मक कार्य जल्द शुरू होगा

मुख्य खबरें:

  • धामी सरकार ने रामनगर स्थित गर्जिया मंदिर के टीले को कोसी नदी की बाढ़ से बचाने के लिए 579.11 लाख रुपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है।
  • मंदिर के टीले का सुरक्षात्मक कार्य जल्द शुरू होगा।
  • सिंचाई विभाग ने मंदिर के टीले के चारों ओर सुरक्षात्मक दीवार के निर्माण के लिए निविदा निकाली है।
  • कैंची धाम में आने वाले भक्तों और पर्यटकों की सुविधा के लिए 47.76 लाख रुपये की लागत से दो नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे।

विवरण:

  • उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रामनगर स्थित गर्जिया मंदिर के टीले को कोसी नदी की बाढ़ से बचाने के लिए 579.11 लाख रुपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। यह मंदिर उत्तराखंड के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है और इसका टीला बाढ़ के खतरे में है।
  • सिंचाई विभाग ने मंदिर के टीले के चारों ओर सुरक्षात्मक दीवार के निर्माण के लिए निविदा निकाली है। सुरक्षात्मक दीवार 3 मीटर ऊंची और 2 मीटर चौड़ी होगी।
  • कैंची धाम में आने वाले भक्तों और पर्यटकों की सुविधा के लिए 47.76 लाख रुपये की लागत से दो नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। इससे मंदिर परिसर में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित होगी।
  • ऊर्जा निगम ने कार्य के लिए टेंडर जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

प्रतिक्रिया:

  • मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि गर्जिया मंदिर उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने कहा कि सरकार मंदिर के संरक्षण के लिए हर संभव प्रयास करेगी।
  • रामनगर विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को गर्जिया मंदिर के टीले के सुरक्षात्मक कार्य के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि यह कार्य मंदिर को बाढ़ के खतरे से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

निष्कर्ष:

धामी सरकार द्वारा गर्जिया मंदिर के टीले को बचाने के लिए 5.79 करोड़ रुपये मंजूर किए जाना एक स्वागत योग्य कदम है। यह मंदिर उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत का महत्वपूर्ण हिस्सा है और सरकार का यह प्रयास मंदिर को संरक्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

अतिरिक्त जानकारी:

  • गर्जिया मंदिर 8वीं शताब्दी में बनाया गया था।
  • मंदिर देवी गर्जिया को समर्पित है, जो देवी दुर्गा का एक रूप हैं।
  • मंदिर हर साल हजारों भक्तों और पर्यटकों को आकर्षित करता है.

Tags : #गर्जियामंदिर , #धामीसरकार , #कोसीनदी , #बाढ़ , #सुरक्षात्मककार्य , #कैंचीधाम , #नएट्रांसफार्मर , #ऊर्जानिगम , #पर्यटक , #भक्त , #Girija Devi Temple

Deepa Rawat

News
More stories
महंगाई भत्ता बढ़कर हुआ 46 प्रतिशत आदेश जारी