Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

होटल में रुकने से लेकर पनीर खाना तक होगा महंगा, जानें- कितना फीसदी लगेगा GST

29 Jun, 2022
Sachin
Share on :

अब दही, पनीर, शहद, मांस और मछली जैसे डिब्बा बंद और लेबल-युक्त या ब्रांडेड चीजें महंगी हो जाएंगी. ऐसा इसलिए है, क्योंकि इन खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाने का फैसला लिया गया है.

नई दिल्ली: जीएसटी काउंसिल की दो दिवसीय बैठक में राज्यों के वित्त मंत्रियों और फिटमेंट कमिटी के पैनल के कुछ सुझावों को मान लिया गया है. बताया जा रहा है कि यह सुझाव लागू होने के बाद स्थानीय दुग्ध और कृषि उत्पाद महंगे हो जाएंगे. इस पैनल ने अनब्रांडेड यानी स्थानीय डेयरी और एग्री उत्पादों को 5 फीसदी के जीएसटी रेट स्लैब में लाने का सुझाव दिया है. इसके अलावा पैनल ने होटल और हॉस्पिटल रूम में स्टे को भी 12 फीसदी स्लैब में डालने की सिफारिश की है.

क्यों बढ़ रही हैं कीमतें

अब दही, पनीर, शहद, मांस और मछली जैसे डिब्बा बंद और लेबल-युक्त या ब्रांडेड चीजें महंगी हो जाएंगी. ऐसा इसलिए है, क्योंकि इन खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाने का फैसला किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जीएसटी परिषद ने राज्यों के वित्त मंत्रियों के समूह की ज्यादातर सिफारिशों को मान लिया है.

होटलों में रुकना हो जाएगा महंगा

इन सभी के अलावा अब होटलों में रुकना भी महंगा हो सकता है. एक हजार रुपये प्रतिदिन से कम किराये वाले होटल कमरों पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगाई जा सकती है. अभी तक इसपर कोई टैक्स नहीं लगता है. इसके अलावा कसीनो, ऑनलाइन गेमिंग और घुड़दौड़ पर भी 28 प्रतिशत जीएसटी लगाने की संभावना जताई जा रही है.

जीएसटी काउंसिल की दो दिवसीय बैठक के बाद होटलों में रुकना हो जाएगा महंगा

गेहूं और अन्य अनाज पर लगेगा जीएसटी

यह छूट फिलहाल डिब्बाबंद और लेबल युक्त खाद्य पदार्थों को मिलती है. इससे डिब्बा बंद मांस (फ्रोजन छोड़कर), मछली, दही, पनीर, शहद, सूखा मखाना, सोयाबीन, मटर जैसे उत्पाद, गेहूं और अन्य अनाज, गेहूं का आटा, मूरी, गुड़, सभी वस्तुएं और जैविक खाद जैसे उत्पादों पर अब पांच प्रतिशत जीएसटी लगेगी जिसके बाद जानकारों का मानना है कि ये वस्तुएं महंगी हो जाएगी यानी कहना का तात्पर्य यह है कि आने वाले समय में आम आदमी के जेब का खर्च बढ़ने वाला है.

डिब्बा बंद दूध और दही के साथ अन्य वस्तुएं होंगी महंगी

और यह भी पढ़ें- मुकेश अंबानी ने दिया JIO के डायरेक्टर पद से इस्तीफा, अब आकाश अंबानी होंगे नये चेयरमैन

चेक जारी करने पर भी लगेगा जीएसटी

इसी प्रकार, चेक जारी करने पर बैंकों द्वारा लिये जाने वाले शुल्क पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगेगा. एटलस समेत नक्शे और चार्ट पर भी 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा. वहीं खुले में बिकने वाले बिना ब्रांड वाले उत्पादों पर जीएसटी की छूट जारी रह सकती है. भारांश औसत जीएसटी को बढ़ाने के लिये दरों को युक्तिसंगत बनाना महत्वपूर्ण है. भारांश औसत जीएसटी घटकर 11.6 प्रतिशत पर आ गया है जो इस कर व्यवस्था के लागू होने के समय 14.4 प्रतिशत पर था.  

Edited By: Deshhit News

News
More stories
New Wage Code: 1 जुलाई से नौकरी करने वालों का बढ़ेगा PF, 4 दिन काम, 3 दिन छुट्टी होगी लागू!