Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से तबाही, जल सैलाब में अब तक 16 की मौत, बचाव कार्य जारी

09 Jul, 2022
Sachin
Share on :

भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवान, राहत और बचाव अभियान में जोरो से जुटे हुए हैं. पुलिस और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के कर्मी भी बचाव अभियान में लगे हुए हैं. अमरनाथ गुफा के पास और पंचतरणी में दो से तीन हजार लोगो के फंसे होने की सूचना मिली है.

नई दिल्ली: दक्षिण कश्मीर में स्थित पवित्र अमरनाथ गुफा के बहुत करीब शुक्रवार की शाम को बादल फट गया और इस कारण यहाँ पर आकस्मिक बाढ़ से कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई  है. जबकि कई घायलों के सही संख्या का पता चल सका है लेकिन बताया जा रहा अहै कि कई लोग घायल हुए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो 60 लोग लापता हैं. अमरनाथ गुफा के पास और पंचतरणी में दो से तीन हजार लोगों के फंसे होने की सूचना भी मिली है.

अमरनाथ यात्रा में बदल फटने के बाद, जो बच गये है वह अब अपने घर की ओर लौटते हुए

अस्थायी रूप से रुकी यात्रा

भारत सरकार ने हादसे होने के बाद परिस्थिति का मूल्यांकन कर अमरनाथ यात्रा निलंबित कर दी है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार यात्रा को बहाल करने का निर्णय बचाव अभियान पूरा हो जाने के बाद ही लिया जाएगा. अमरनाथ यात्रा दोनों मुख्य रास्ते बालटाल और पहलगाम फिलहाल बंद है. गौरतलब है कि बीते तीन जून को ही अमरनाथ यात्रा शुरू हुई थी.     

राहत और बचाव अभियान जारी

भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवान, राहत और बचाव अभियान में जोरो से जुटे हुए हैं. पुलिस और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के कर्मी भी बचाव अभियान में लगे हुए हैं. अमरनाथ गुफा के पास और पंचतरणी में दो से तीन हजार लोगो के फंसे होने की सूचना मिली है. हादसे के बाद बालटाल कैम्प से पहलगाम की ओर श्रद्धालुओं की चढ़ाई को रोकने का फैसला किया गया था. बताया गया कि शनिवार को मौसम में सुधार आने के बाद श्रद्धालुओं का नया जत्था पहलगाम की ओर रवाना हुआ. इस संबंध में एक श्रद्धालु ने बताया कि हम पहलगाम कैंप की ओर बढ़ रहे हैं. हमें उम्मीद है कि यात्रा फिर से शुरू हो जाएगी. हम सभी श्रद्धालु भोलेनाथ से प्रार्थना करते हैं कि वह सभी की रक्षा करें.

भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवान, राहत और बचाव अभियान में जोरो से जुटे हुए हैं

और यह भी पढ़ें- जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे का निधन, आज सुबह मारी गई थी गोली, भारत में भी होगा राष्ट्रीय शोक

राजस्थान से से अमरनाथ गया था एक जत्था

आपको बता दें कि चार जुलाई को राजस्थान के श्री गंगानगर से 27 सदस्यों का दल अमरनाथ यात्रा गया था. हालांकि, बादल फटने की वजह से इस दल के सुनील खत्री और उनके समधन की मौत हो गई. जबकि, एक व्यापारी सहित दल के 7 सदस्य अभी भी लापता हैं. बादल फटने वाली जगह से उक्त दल के 10 लोग बहे गए थे, जिनमें से तीन को बचाया गया. अमरनाथ गुफा में फंसे श्रद्धालु नवीन बठेजा ने ये जानकारी दी है.

हादसे से पहले लौटा था 150 लोगों का जत्था

बालटाल में शिव शक्ति सेवा समिति की ओर से भंडारा चलाया जा रहा है. इसमें सहयोग करने वाले नोएडा निवासी कुशलपाल सिंह ने बताया कि हादसे से कुछ समय पहले ही 150 यात्रियों का जत्था दर्शन कर शिविर में पहुंचा था. हादसे की खबर मिलने के बाद लगातार फोन पर संपर्क बनाए हुए हैं. नोएडा के लगभग सभी यात्रियों के सुरक्षित होने की खबर मिली है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
आंध्र प्रदेश की सियासत में आया नया मोड़, सीएम जगन मोहन रेड्डी की मां ने छोड़ा अध्यक्ष पद, जानें क्‍या है वजह