Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

सीएम योगी आये एक्शन मोड में, सरकार की छवि ख़राब करने वाले कई वरिष्ठ अफसरों पर गिरेगी गाज

14 Jul, 2022
Sachin
Share on :

अमित मोहन प्रसाद ने उप मुख्यमंत्री के लिखे पत्र का कोई जवाब न देने पर इस प्रकरण ने तूल पकड़ लिया और पार्टी केंद्रीय नेतृत्व ने इस मामले में पूछताछ कर ली. इसके बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग के तबादलों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट तलब की.

नई दिल्ली: अपने कामों से सरकार की छवि खराब करने वाले नौकरशाहों पर योगी सकरार ने कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है.  बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य एवं लोक निर्माण विभाग में तबादलों में गड़बड़ियों और पशुपालन घोटाले पर मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाया है. सीएम ने तबादलों में गड़बड़ियों का पता लगाकर जांच के लिए मुख्य सचिव और कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर दी है और साथ ही पशुपालन घोटाले की जांच के आदेश भी दे दिए हैं. बस अब मुख्यमंत्री कार्यालय को जांच रिपोर्ट आने का इंतजार है. इसके बाद माना जा रहा है कि स्वास्थ्य, लोक निर्माण व पशुपालन विभाग के कई वरिष्ठ अफसरों की विदाई तय है. हो सकता है कि इन्हें महत्वहीन पदों पर भेजा जाएगा.  

उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने जताई थी नाराजगी           

मालूम हो कि स्वास्थ्य विभाग में बीती  तारीख 30 जून को हुए तबादलों को लेकर उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने अपनी नाराजगी जताते हुए स्थानांतरण नीति के पालन की बात कही थी. पाठक ने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के द्वारा किए गए तबादलों पर नाराजगी जताते हुए पत्र भी लिखा था. पत्र में पाठक ने तबादलों में तमाम तरह की गड़बड़ियों को लेकर चिंता जाहिर की थी और साथ ही अमित मोहन से स्पष्टीकरण भी मांगा था लेकिन उन्होंने उप मुख्यमंत्री के पत्र का कोई जवाब नहीं दिया. इसके बाद देखते ही देखते मामले ने तूल पकड़ लिया और भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने भी इस मामले में जवाब-तलब करने को कहा था.

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने जताई थी नाराजगी  

और यह भी पढ़ें- संसद में भ्रष्ट, जुमलाजीवी और बहरी सरकार जैसे शब्दों पर लगा बैन, विपक्ष ने जताई कई शब्दों पर आपत्ति

मंगलवार को योगी आए एक्‍शन में

अमित मोहन प्रसाद ने उप मुख्यमंत्री के लिखे पत्र का कोई जवाब न देने पर इस प्रकरण ने तूल पकड़ लिया और पार्टी केंद्रीय नेतृत्व ने इस मामले में पूछताछ कर ली. इसके बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग के तबादलों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट तलब की और पूरे प्रकरण को समझने के बाद उन्होंने मुख्य सचिव डीएस मिश्रा की अध्यक्षता में एक कमेटी को जांच के आदेश दे दिए.

PWD विभाग की जांच के लिए APC की कमेटी

इसी प्रकार PWD में हुए तबादलों की गड़बड़ियों को लेकर भी जांच करने के लिए तीन आईएस अफसरों की कमेटी भी बनाई गई है. बताया जा रहा है कि इस कमेटी में कृषि उत्पादन आयुक्त मनोज सिंह, अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी और अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी शामिल हैं.

PWD विभाग की जांच के लिए APC की कमेटी बैठाई गई

पशुपाल विभाग के लिए ACS की कमेटी

सीएम योगी के निर्देश पर पशुपालन मंत्री धर्मपाल सिंह ने करीब 50 करोड़ रुपए के घोटाले की जांच को अपर मुख्य सचिव को सौंपी है. आरोप है कि विभाग के अधिकारियों ने दवा और उपकरणों की खरीद दोगुने दाम पर ख़रीदा है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
यूपी के 80 हजार कोटेदारों को सीएम योगी ने दिया तोहफा, अब कोटेदारों को मिलेगा CSE का दर्जा