Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

सामान्य से 62 प्रतिशत कम वर्षा पर सीएम योगी ने विभागों को किया अलर्ट, बताया ख़रीफ़ की बुआयी कैसे होगी

15 Jul, 2022
Sachin
Share on :

सीएम योगी ने बैठक के बाद कहा कि बांदा, चंदौली, हमीरपुर, देवरिया, जालौन, बलिया, बस्ती, गोरखपुर, महराजगंज, संतकबीरनगर और श्रावस्ती जैसे जिलों पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. अगला एक सप्ताह हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है.

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में मानसून की बेरुखी ने योगी सरकार को चिंता में डाल दिया है. माना कि प्रमुख नदियों, नहरों और जलाशयों में बेशक पर्याप्त जल हो, मौसम विभाग के अनुसार सामान्य से लगभग 62 प्रतिशत कम वर्षा की रिपोर्ट ने सरकार को सतर्क कर दिया है. वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों संग मानसून की स्थिति की समीक्षा करते हुए राहत संबंधी सभी विभागों को अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश दिया है. सीएम योगी ने अगले एक सप्ताह को चुनौतीपूर्ण बताते हुए कहा है कि हमें सभी परिस्थितियों के लिए तैयार रहना चाहिए.  

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि यूपी में आमतौर पर 15 जून से 15 सितंबर तक बारिश का मौसम रहता है. लेकिन इस बार मानसून को देरी से आने पर किसानों की फसल को खतरा हो सकता है. लेकिन सरकार का कहना है कि हमने नहरों, नलकूपों के विस्तार से सिंचाई सुविधा को बेहतर बनाया है. सीएम योगी ने कहा कि मौसम वैज्ञानिकों के आंकलन के अनुसार 18 जुलाई से अच्छी वर्षा की संभावना है. हमें वैकल्पिक प्रबंध के संबंध में तैयार रहना होगा. 

राज्य में वर्षा कम होने के कारण सीएम योगी ने विभागों को किया अलर्ट, बताया ख़रीफ़ की बुआयी कैसे होगी

इन जिलों में दें ध्यान

सीएम योगी ने बैठक के बाद कहा कि बांदा, चंदौली, हमीरपुर, देवरिया, जालौन, बलिया, बस्ती, गोरखपुर, महराजगंज, संतकबीरनगर और श्रावस्ती जैसे जिलों पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. अगला एक सप्ताह हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है. ऐसे में हमें यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी पेयजल का अभाव न हो.

सीएम योगी ने बैठक के बाद कहा कि बांदा, चंदौली, हमीरपुर, देवरिया, जालौन, बलिया, बस्ती, गोरखपुर, महराजगंज, संतकबीरनगर और श्रावस्ती जैसे जिलों पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है

और यह भी पढ़ें- संसद में भ्रष्ट, जुमलाजीवी और बहरी सरकार जैसे शब्दों पर लगा बैन, विपक्ष ने जताई कई शब्दों पर आपत्ति

नदियों और जलाशयों से की जा सकती है फसल बुआई: सीएम योगी

सीएम योगी ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि नदी और जलाशयों में पानी होने से फसल बुआई की जा सकती है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि बुआई में देरी से उपज प्रभावित होगी इसके लिए वैकल्पिक प्रबंध के लिए भी तैयार रहें. उन्होंने कहा कि सभी परिस्थितियों के लिए कार्ययोजना तैयार रखें. साथ ही कृषि, सिंचाई, राहत, राजस्व आदि सम्बंधित विभाग को अलर्ट मोड में रहने के निर्देश भी दिए हैं. प्रत्येक जनपद में कृषि विज्ञान केंद्रों, कृषि विश्वविद्यालयों, कृषि वैज्ञानिकों के माध्यम से किसानों से लगातार सतत संवाद बनाये रखने के भी निर्देश दिए हैं.

प्रदेश के मात्र आगरा जिले में हुई सामान्य वर्षा

यूपी में एकमात्र आगरा जिला ऐसा रहा है जहां सामान्य से थोड़ी ज्यादा वर्षा हुई है. दक्षिणी पश्चिमी मानसून के प्रभाव से इस वर्ष 13 जुलाई तक मात्र 76.6 मिलीमीटर वर्षा हुई है. यह सामान्य 199.7 मिलीमीटर से लगभग 62 प्रतिशत कम है.  राज्य में इस साल तकरीबन 70 मिमि बारिश कम हुई है. इस बार का आंकड़ा पिछले साल की अवधि से बारिश लगभग 62 फीसदी तक कम है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
ललित मोदी को डेट कर रही सुष्मिता सेन एक बार फिर विवादों के घेरे में, ललित ने सुष्मिता को बताया बेटर हाफ