Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

कुल्लू के मणिकर्ण में फटा बादल, हिमाचल में कई जगह बाढ़, 6 लोग लापता, कई घर पानी में बहे

06 Jul, 2022
Sachin
Share on :

शिमला में ढल्ली सुरंग के पास हुए भूस्खलन में एक महिला की मौत हो गई, जबकि एक पुरुष और एक महिला सहित दो अन्य घायल हो गए. सूत्रों ने बताया कि पीड़ित प्रवासी श्रमिक रहे हैं. जब यह घटना हुई, तो वह सड़क किनारे तंबू में सो रहे थे.

हिमाचल प्रदेश: हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के कारण कहर टूट पड़ा है. समाचार एजेंसी के मुताबिक, शिमला में भूस्खलन में एक महिला की मौत हो गई. दरअसल, हिमाचल प्रदेश में आज सुबह बादल फटने के कारण अचान आई बाढ़ से कई लोग लापता हो गए. आईएमडी के अनुसार राज्य में गुरुवार रात से लगातार बारिश हो रही है. बादल फटने के बाद कुल्लू जिले के मलाणा और मणिकर्ण का राज्य के बाकी हिस्सों से संपर्क टूट गया है. वहीं, अधिकारियों ने बताया कि जिले में छह लोग लापता हैं और और बचाव कार्य जारी है.

हिमाचल में बाढ़ के कारण कुल्लू के मणिकर्ण में सड़क हुई अवरुद्ध

और यह भी पढ़ें- उदयपुर हत्याकांड पर राहुल गांधी के बयान को लेकर ज़ी न्यूज़ के एंकर पर हुआ केस दर्ज

शिमला में ढल्ली सुरंग के पास हुए भूस्खलन में एक महिला की मौत हो गई, जबकि एक पुरुष और एक महिला सहित दो अन्य घायल हो गए. सूत्रों ने बताया कि पीड़ित प्रवासी श्रमिक रहे हैं. जब यह घटना हुई, तो वह सड़क किनारे तंबू में सो रहे थे. घायलों को इलाज के लिए इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया है.

कुल्लू के चोझ गांव में मवेशियों के अलावा कम से कम चार लोग बह गए. ज्यादा तेज भूस्खलन आने के कारण बचाव दल भी बीच में ही फंस गया है. वहीं मलाणा में दो बिजली परियोजनाओं में काम कर रहे लगभग 25-30 कर्मचारी, जो अचानक बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त एक इमारत में फंस गए थे उन्हें बचाव दल ने निकाल लिया गया है.

पहाड़ी में बादल फटने से मची तबाही

बादल फटने से जो बाढ़ आई है उसके कारण पार्वती नदी का जलस्तर भी उफान पर है और पूरी पार्वती घाटी में अफरा-तफरी का माहौल मचा हुआ है. पार्वती नदी के किनारे स्थित पर्यटकों के लिए कैंपिंग साइट बनाई गई थी, यह बह गई है. जिला कुल्लू में हुई भारी बारिश के कारण कई सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं. खासकर मणिकर्ण घाटी के अधिकतर मार्ग बंद हो गए हैं और जगह-जगह भूस्खलन और पत्थर गिरने की घटना से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. दूसरी ओर, झाकड़ी के नजदीक ब्रोनी खड्ड के पास भूस्खलन होने से एन-एच-5 सुबह से बंद है. हाईवे के बंद होने से किन्नौर के लिए संपर्क मार्ग बंद हो गया है. जिससे लोगों को अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

बाढ़ में फंसे कई लोगों की हुई पहचान

मणिकर्ण घाटी के पास चोज में बाढ़ में बहे 4 लापता लोगों की पहचान हो चुकी है. पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक रोहित, सुंदरनगर हिमाचल, राहुल चौकसी, धर्मशाला, अर्जुन-बंजार और कपिल पुष्कर राजस्थान के रहने वाले हैं. कुल्लू के मलाणा पावर प्रोजेक्ट 2 के डैम साइट पर फ्लैश फ्लड के बाद प्रोजेक्ट बिल्डिंग भी क्षतिग्रस्त हो गई है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
LPG Price Hike: जनता पर फिर पड़ी महंगाई की मार, घरेलू गैस सिलेंडर हुआ महंगा, जानें नई कीमत