Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

लद्दाख के पास चीन कर रहा निर्माण, सैटेलाइट तस्वीरों के हवाले से US के टॉप जनरल ने किया खुलासा

08 Jun, 2022
Sachin
Share on :

लद्दाख के पास चीन का निर्माण को लेकर अमेरिका ने भारत को सावधान रहने की चेतावनी दी है. अमेरिका के शीर्ष जनरल ने एनडीटीवी को दिए गए इंटरव्यू में बताया कि लद्दाख सीमारेखा के पास चीन की हरकते संदिग्ध दिखाई देती है.

नई दिल्ली: अमेरिका ने भारत को चेतावनी दी है कि लद्दाख में चीनी गतिविधियां बहुत तेजी से आंख खोलने वाली हैं और कुछ ऐसा ढांचा चीन ने तैयार किया है जो खतरे की घंटी बजा सकता है. अमेरिकी जनरल चार्ल्स ए फ्लिन (Charles A. Flynn) ने इसे चीन का “अस्थिर करने वाला प्रयास और संबंधों को नुकसान पहुंचाने वाला व्यवहार” बताया है. बताया जा रहा है कि वह हिमालयी क्षेत्र में चीन की तरफ हो रहे निर्माण कार्य किए की ओर इशारा कर रहे थे. एशिया-प्रशांत क्षेत्र को देखने वाले जनरल ने कहा कि, मेरा विचार है कि चीन की गतिविधि का यह स्तर आंखें खोलने वाला है. मेरे विचार से पश्चिमी थिएटर कमांड में कुछ निर्माण के खतरे की खंटी बजाता है. और पूरे सैन्य-साजो सामान के साथ, किसी को यह सवाल जरुर पूछना पड़ेगा कि चीन ऐसा क्यों कर रहा है? 

वहीं, लद्दाख के पास चीन का निर्माण को लेकर अमेरिका ने भारत को सावधान रहने की चेतावनी दी है. अमेरिका के शीर्ष जनरल ने एनडीटीवी को दिए गए इंटरव्यू में बताया कि लद्दाख सीमारेखा के पास चीन की हरकते संदिग्ध है. सेटेलाईट के माध्यम से मिली सूचना के अनुसार उन्होंने बताया कि चीन उस इलाके में कोई निर्माण कार्य का ढांचा तैयार करने में लगा हुआ है.

और यह भी पढ़ें- ऑल इंडिया कोटे की सीट खाली को लेकर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, मेडिकल कॉलेजों में 1456 सीटें खाली

पेंगोंग झील के पास चीनी पुलों का निर्माण

अमेरिकी जनरल फ्लिन ने बताया, भारत और अमेरिका दोनों देशों की सेनाओं के लिए ये एक शानदार अवसर हो सकता जिसका वो साथ रहकर फायदा उठा सकते हैं. आपको बता दें कि इसके पहले जनवरी में भी ये खबरें मीडिया में सामने आईं थीं कि पेंगोंग झील के पास चीनी पुलों का निर्माण किया जा रहा है. इस इलाके में बड़ी संख्या में भारतीय सेना के जवान तैनात हैं.  

अमेरिकी जनरल फ्लिन

भारत और अमेरिका इस अक्टूबर में युद्ध अभ्यास के हिस्से के रूप में हिमालय में 9,000-10,000 फीट की ऊंचाई पर उच्च प्रशिक्षण मिशन आयोजित करने के लिए तैयार है. लेकिन अभी स्थान निर्दिष्ट नहीं किया गया है. इसके बाद भारतीय सेनाएं अलास्का में भीषण ठंड के मौसम की स्थिति में प्रशिक्षण लेंगी.

भारत और अमेरिका युद्ध अभ्यास के लिए हिमालय में 10,000 फीट की ऊंचाई पर प्रशिक्षण मिशन आयोजित करने के लिए तैयार है

इसमें नई तकनीक, वायु सेना की संपत्ति, हवाई हमले, रसद और वास्तविक समय के आधार पर सूचना साझा करना शामिल हैं. जनरल फ्लिन ने कहा, “ये सभी अमूल्य अवसर हैं, जिनका भारतीय सेना और अमेरिकी सेना फायदा उठा सकते हैं. जनवरी में उपग्रह चित्रों में दिखाया गया था कि पैंगोंग झील के पार एक चीनी पुल का निर्माण किया जा रहा है, जो एक प्रमुख बुनियादी ढांचा निर्माण है, जिसका भारतीय सेना के लिए गहरा सैन्य प्रभाव है, जो इस क्षेत्र में भारी रूप से तैनात है.

News
More stories
पैगंबर पर विवादित टिप्पणी के बाद अलकायदा ने दी धमकी, दिल्ली-मुंबई-यूपी और गुजरात में आत्मघाती हमले करेंगे