मुख्यमंत्री धामी ने विकास आधारित राजनीति पर दिया ज़ोर

11 Mar, 2024
Head office
Share on :

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि राजनीति वोट बैंक पर आधारित नहीं, बल्कि विकास पर आधारित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार जिस भी योजना का शिलान्यास कर रही है, उसका लोकार्पण भी कर रही है।

मुख्य बिंदु:

सीएम धामी ने एमडीडीए की विभिन्न विकास योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण समारोह में यह बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि सभी योजनाएं देहरादून और मसूरी के विकास में मील का पत्थर साबित होंगी।

धामी ने कहा कि बीते दो माह में टनकपुर, हरिद्वार, चंपावत, पौड़ी और रुद्रप्रयाग समेत प्रदेश के सभी जिलों में करोड़ों की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया गया।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार हर क्षेत्र के संतुलित विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

उन्होंने विश्वास जताया कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दोबारा भाजपा की सरकार बनेगी।

विपक्ष पर हमला:

धामी ने कहा कि देवभूमि में विकास के साथ रोजगार के अवसर बढ़े हैं।

उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में विकास के इंजन को जंग लग चुका था, युवा हताश थे, नागरिक सुविधाओं का अभाव था, गरीबों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता था, किसानों के सम्मान की बजाए अपमान किया जाता था।

उन्होंने कहा कि विपक्षी नेताओं ने परिवार की चिंता की।

मुख्यमंत्री की घोषणाएं:

धामी ने कहा कि हमारा जोर संतुष्टिकरण पर है, तुष्टिकरण पर नहीं।

उन्होंने कहा कि नकल विरोधी कानून के तहत नकल कराने वालों पर कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को समान अधिकार के लिए समान नागरिक संहिता लागू की जा रही है।

उन्होंने कहा कि लैंड जिहाद के खिलाफ युद्ध स्तर पर कार्रवाई हो रही है।

उन्होंने कहा कि अब दंगारोधी कानून के बाद दंगे में होने वाले नुकसान की भरपाई भी दंगाइयों से होगी।

समारोह में मौजूद:

इस समारोह में एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी और डॉ. आरके जैन भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

विश्लेषण:

मुख्यमंत्री धामी के इस बयान को विकास आधारित राजनीति के प्रति उनकी प्रतिबद्धता के रूप में देखा जा सकता है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि उनकी सरकार हर क्षेत्र के विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

हालांकि, विपक्ष ने इस बयान को खारिज कर दिया है और कहा है कि भाजपा सरकार केवल वोट बैंक की राजनीति करती है।

यह कहना अभी जल्दबाजी होगी कि मुख्यमंत्री धामी के इस बयान का क्या प्रभाव होगा।

हालांकि, यह निश्चित रूप से उत्तराखंड में राजनीतिक बहस का एक प्रमुख विषय बन जाएगा।

Tags : #विकास_आधारित_राजनीति , #सीएम_धामी , #उत्तराखंड , #भाजपा , #विपक्ष , #नकल_विरोधी_कानून , #समान_नागरिक_संहिता , #लैंड_जिहाद , #दंगारोधी_कानून

Deepa Rawat

News
More stories
'सशक्त नारी-विकसित_भारत', प्रधानमंत्री मोदी ने महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए बैंक ऋण एवं निवेश पूंजी वितरित किए
%d bloggers like this: