Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

सीएम गहलोत के भाई अग्रसेन के घर पड़ा CBI का छापा, पोटाश घोटाले को लेकर हो रही है कार्रवाई

17 Jun, 2022
Sachin
Share on :

डायरेक्ट्रोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस ने 2012-13 में पोटाश घोटाले का खुलासा किया था. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुसार अग्रसेन गहलोत की कंपनी अनुपम कृषि, म्यूरियेट ऑफ पोटाश (एमओपी) फर्टिलाइजर के एक्सपोर्ट पर बैन होने के बावजूद उसके निर्यात में शामिल थी.

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के घर पर सीबीआई ने छापा मारा है. इससे पहले अग्रसेन गहलोत के घर ईडी का छापा भी पड़ा था. लेकिन कुछ राजनीतिक जानकार सीबीआई की इस कार्रवाई को राहुल गांधी के लिए अशोक गहलोत द्वारा दिल्ली में किए जा रहे प्रदर्शन से जोड़कर भी देखा जा रहा है.

मीडिया की ख़बरों की माने तो शुक्रवार सुबह सीएम गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के घर सीबीआई की टीम पहुंची गई थी. बताया जा रहा है कि इस टीम में पांच अधिकारी दिल्ली से और पांच अधिकारी जोधपुर से हैं. फिलहाल टीम के सदस्य जांच में जुटे हुए हैं. वहीं अग्रसेन गहलोत घर पर ही हैं. सीबीआई की एक टीम उनके पावटा स्थित दुकान पर भी पहुंची है.

सीबीआई की टीम पहुंची सीएम गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के घर पर

और यह भी पढ़ें- कांग्रेस की नेता रेणुका चौधरी ने पुलिसकर्मी का पकड़ा कॉलर, तो हुआ केस दर्ज, VIDEO वायरल

क्या है मामला

डायरेक्ट्रोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस ने 2012-13 में पोटाश घोटाले का खुलासा किया था. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुसार अग्रसेन गहलोत की कंपनी अनुपम कृषि, म्यूरियेट ऑफ पोटाश (एमओपी) फर्टिलाइजर के एक्सपोर्ट पर बैन होने के बावजूद उसके निर्यात में शामिल थी. एमओपी को इंडियन पोटाश लिमिटेड (आईपीएल) निर्यात कर किसानों को सब्सिडी पर बेचती है. अग्रसेन गहलोत आईपीएल के ऑथराइज्ड डीलर थे.

प्रवर्तन निदेशालय पहले भी अग्रसेन गहलोत के घर पर छापा मार चुकी है

2007 से 2009 के बीच उनकी कंपनी ने सब्सिडाइज रेट पर एमओपी खरीदा. उसे किसानों को बेचने के बजाय मुनाफा में दूसरी कंपनी को बेच दिया गया. उन कंपनियों ने एमओपी को इंडस्ट्रियल सॉल्ट के नाम पर मलेशिया और सिंगापुर पहुंचा दिया. इस मामले की जांच ईडी में लंबित चल रही है। इस मामले में कस्टम विभाग ने अग्रसेन की कंपनी पर करीब 5.46 करोड़ रुपए की पेनाल्टी भी लगाई थी.

News
More stories
कांग्रेस की नेता रेणुका चौधरी ने पुलिसकर्मी का पकड़ा कॉलर, तो हुआ केस दर्ज, VIDEO वायरल