Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

दक्षिणी दिल्ली के सत्य निकेतन में ढही इमारत, कई मजदूर दबे, बचाव कार्य जारी

25 Apr, 2022
Sachin
Share on :

घटनास्थल का वीडियो भी सामने आया है जिसमें साफ़ दिखाई दे रहा है कि घर का मलबा सड़क पर आ गया है. आगे का हिस्सा पूरी तरह धंस गया है. आसपास लोगों की भीड़ जमा है. मलबे को हटाने के लिए जेसीबी मशीन की मदद ली जा रही है.

नई दिल्ली: साउथ दिल्ली के सत्य निकेतन इलाके में एक निर्माणाधीन मकान गिरने से पांच मजदूर के दबने की खबर सामने आ रही है. सोमवार दोपहर करीब 1 बजकर 25 मिनट पर मकान में मजदूर काम कर रहे थे, तभी यह बिल्डिंग गिरने का हादसा हुआ. स्थानीय लोगों ने जैसे ही पुलिस को निस घटना की सूचना दी तो तत्काल प्रभाव से पुलिस, दमकल और अन्य बचाव दल मौके पर पहुंच गए. अभी फिलहाल बचाव दल मजदूरों को मलबे से निकालने की कोशिश कर रहा है. सूचना मिली है कि पांच मजदूरों में से 4 मजदूरों को निकाल लिया गया है.

बिल्डिंग टूटने के बाद, बचाव कार्य जारी

और यह भी पढ़ें- दिल्ली: रोहिणी कोर्ट में फिर फायरिंग, वकील और सुरक्षाकर्मी के बीच बहस में चली गोली, दो जख्मी

घटनास्थल का वीडियो भी सामने आया है जिसमें साफ़ दिखाई दे रहा है कि घर का मलबा सड़क पर आ गया है. आगे का हिस्सा पूरी तरह धंस गया है. आसपास लोगों की भीड़ जमा है. मलबे को हटाने के लिए जेसीबी मशीन की मदद ली जा रही है.

मीडिया के माध्यम से मिली जानकारी के अनुसार सत्य निकेतन इलाके में एक भवन के निर्माण का कार्य चल रहा था. मजदूर काम में जुटे थे. इसी दौरान इस निर्माणाधीन भवन का कुछ हिस्सा भर-भराकर गिर पड़ा. मौके पर काम कर रहे मजदूर कुछ समझ ही नहीं पाए. बताया जा रहा है कि वहां काम कर रहे सात मजदूर निर्माणाधीन भवन के मलबे में दब गए हैं मौके पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने कटर्स और अन्य उपकरणों की सहायता से राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है. मलबा हटाने में जेसीबी का उपयोग भी किया जा रहा है.

बिल्डिंग टूटकर मलवे के ढेर में तब्दील हो गई

इमारत के अंदर फंसे मजदूरों की पहचान बिहार के अररिया निवासी नसीम (36 वर्ष) और उसके साल गुलफराज (25 वर्ष) और बिलाल (22 वर्ष),  अरमान (23 वर्ष) असलम (21 वर्ष) के रूप में हुई है. अभी बचाव कार्य जारी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें की रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान बचावकर्मियों ने बेहद सूझबूझ से काम लिया.

मीडिया ने कुछ तस्वीरों को शेयर किया है, जिसमें देखा जा सकता है कि यह हादसा कितना भयावह है. फिलहाल, मौके पर बुलडोजर से मलबे को हटाने का काम जारी है. पास ही एक व्यक्ति ने बताया कि इस मकान के मरम्मत का काम चल रहा था, उस यहाँ पर पांच मजदूर उस वक्त काम कर रहे थे, तभी यह तीन मंजिला इमारत देखते ही देखते मलबे के ढेर में तब्दील हो गया. इस घटना के बाद चीख-पुकार मच गई. तुरंत दमकल विभाग को फोन किया गया और अभी फिलहाल बचाव कार्य जारी है.

दक्षिणी दिल्ली के मेयर मुकेश सूर्यन ने बिल्डिंग हादसे का जिम्मेदार मकान मालिक को ठहराया है. उन्होंने कहा कि निगम की ओर से पिछले महीने ही एडवाइजरी जारी की गई थी. इमारत में मरम्मत का काम हो रहा था, उसी दौरान यह घटना हुई. मेयर ने कहा कि इमारत के मालिक ने इस मरम्मत कार्य की जानकारी नहीं दी थी.  उसने एमसीडी के कानून का उल्लंघन किया अब इसको सजा मिलेगी की उसने इस बात की सूचना एमसीडी को क्यों नहीं दी.

News
More stories
क्यों कीटो डाइट, स्वस्थ शरीर के लिए एक अच्छा सुझाव नहीं है