Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

काली फ़िल्म: मां काली के हाथ में सिगरेट और LGBTQ के झंडे को लेकर छिड़ा विवाद, जानें क्या है मामला

05 Jul, 2022
Sachin
Share on :

समाचार एजेंसी एएनआई की माने तो, दिल्ली पुलिस ने कहा कि आईएफएसओ इकाई ने काली फिल्म से संबंधित एक विवादास्पद पोस्टर के संबंध में आईपीसी की धारा 153A और 295A के तहत प्राथमिकी रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है.

नई दिल्ली: लीना मनिमेकलाई की डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म काली के पोस्टर पर अयोध्या के संतों व विहिप सदस्यों ने कड़ी नाराजगी जताई है. उन्होंने अपने बयान कहा कि यह हमारे देवी-देवताओं का अपमान है. आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की गई है. पोस्टर में साफ़ है कि काली मां को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है.

लीना मनिमेकलाई की डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म काली के पोस्टर पर अयोध्या के संतों व विहिप सदस्यों ने कड़ी नाराजगी जताई

बहुसंख्यक समाज का अपमान- विहिप सदस्य शरद शर्मा

विहिप के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने काली डॉक्यूमेंट्री को प्रसारण से पूर्व ही प्रतिबंधित करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि हिन्दुओं की आस्था, श्रद्धा और भक्ति की प्रतीक मां काली को ध्रुमपान यानि सिगरेट पीते दिखाकर बहुसंख्यक समाज का अपमान किया गया है. विहिप इसकी कड़ी निंदा करता है.

विहिप ने कहा ये बहुसंख्यक समाज का अपमान हम इसकी घोर निंदा करते हैं

और यह भी पढ़ें- उदयपुर हत्याकांड पर राहुल गांधी के बयान को लेकर ज़ी न्यूज़ के एंकर पर हुआ केस दर्ज

समाचार एजेंसी एएनआई की माने तो, दिल्ली पुलिस ने कहा कि आईएफएसओ इकाई ने काली फिल्म से संबंधित एक विवादास्पद पोस्टर के संबंध में आईपीसी की धारा 153A और 295A के तहत प्राथमिकी रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. आपको बताते चले कि इस फिल्म के पोस्टर पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा है.

सोशल मीडिया पर हुआ तूफ़ान खड़ा

काली के पोस्टर ने सोशल मीडिया पर तूफान खड़ा कर दिया है. इसके लिए अब #arrestleenamanimekalai  के साथ ट्रेंड कर रहा है. सोशल मीडिया पर इसका कड़ा किया गया है. फिल्म निर्माता धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा रही हैं. वहीं, गौ महासभा नामक संगठन के एक सदस्य ने कहा है कि उन्होंने दिल्ली पुलिस में इसकी शिकायत की है.

जुबानी हमलों के बीच टोरंटो निवासी फिल्म की निर्देशिका ने यह कहते हुए पलटवार किया है कि वह अपनी जान देने को भी तैयार हैं. मणिमेकलाई ने इस विवाद को लेकर एक लेख के जवाब में एक ट्विटर पोस्ट में तमिल भाषा में लिखा, मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है. जब तक मैं जीवित हूं, मैं बेखौफ आवाज बनकर जीना चाहती हूं. अगर इसकी कीमत मेरी जिंदगी है, मैं इसे भी देने के लिए तैयार हूँ.

कनाडा के उच्चायुक्त ने जारी किया बयान

कनाडा के उच्चायोग ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक बयान जारी कर कहा कि, हमें कनाडा के हिंदू समुदाय के नेताओं की ओर से एक फिल्म के पोस्टर पर देवी-देवताओं के अपमानजनक प्रस्तुतीकरण को लेकर शिकायत मिली है जो टोरंटो के अगा ख़ान म्यूज़ियम के अंडर द टेंट प्रोजेक्ट का हिस्सा है. टोरंटो में मौजूद हमारे काउंसुलेट जनरल ने इवेंट के आयोजकों को इन चिंताओं से वाकिफ़ करा दिया है. हमें ये भी जानकारी मिली है कि कई हिंदू समूहों ने कार्रवाई किए जाने की मांग की है. जिसको लेकर कनाडा में प्रशासन से संपर्क किया है. हम कनाडा की सरकार और इवेंट के आयोजकों से ऐसी भड़काने वाली चीज़ें वापस लेने की अपील करते हैं.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
बारिश में फॉलो करें फैशन का ये नया अंदाज़, सही टिप्स फॉलो करके लोगों की नज़रें अपनी ओर खींच सकते हैं जाने मॉनसून के नए फैशन टिप्स