Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ‘रावण’ गिरफ्तार, लगा ये आरोप, जानें

03 Jul, 2022
Sachin
Share on :

मीडिया की ख़बरों की माने तो उन पर ये कार्रवाई धारा 144  का उल्लंघन करने की वजह से हुई है. राजस्थान के उदयपुर में हुई कन्हैयालाल की हत्या की वजह से सरकार ने पूरे राज्य में धारा 144 लगा रखी है. इसी बीच चंद्रशेखर कोविड सहायकों की नौकरी के लिए जयपुर के शहीद स्मारक पर शांतिपूर्वक आंदोलन में शामिल होने पहुंचे थे.

नई दिल्ली: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद यानी रावण को राजस्थान की राजधानी जयपुर में गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि उन्हें जयपुर के विधायकपुरी थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मीडिया की ख़बरों की माने तो उन पर ये कार्रवाई धारा 144  का उल्लंघन करने की वजह से हुई है. राजस्थान के उदयपुर में हुई कन्हैयालाल की हत्या की वजह से सरकार ने पूरे राज्य में धारा 144 लगा रखी है. इसी बीच चंद्रशेखर कोविड सहायकों की नौकरी के लिए जयपुर के शहीद स्मारक पर शांतिपूर्वक आंदोलन में शामिल होने पहुंचे थे. लेकिन धारा 144 का पालन ना करने पर बीती रात चंद्रशेखर को गिरफ्तार कर लिया गया.

ट्विट कर दी जानकारी

बता दें कि,यहाँ काफी भीड़ इकट्ठा होने के कारण पुलिस ने आजाद और कई आंदोलनकारियों को करीब रात 12 बजे गिरफ्तार किया था. इन सभी पर धारा 144 का उल्लंघन करने का आरोप है. दिल्ली में भीम आर्मी के प्रदेशाध्यक्ष हिमांशु वाल्मीकि ने सोशल मीडिया के जरिए ये जानकारी दी कि अभी तक राज्य सरकार ने नहीं बताया है कि आजाद को कहाँ रखा गया है. भीम आर्मी के राष्ट्रीय एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रत्न सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा, जयपुर में सीएचए नर्सेज को पक्का करने की मांगों के लिए आंदोलन करने चंद्रशेखर आजाद वहाँ गए थे.

और यह भी पढ़ें- राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड तीन दिन की यात्रा पर पहुंचे, हाल ही में राहुल के कार्यालय में हुई थी तोड़फोड़

आंदोलन के दौरान चंद्रशेखर आजाद मांग कर रहे थे कि सभी कोविड सहायकों को नौकरी दी जाए. बता दें करीब महीने भर से जयपुर में सैकड़ों की संख्या में कोविड सहायक शहीद स्मारक के पास नौकरी के लिए शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे हैं. इसी आंदोलन में शामिल होने के लिए भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद पहुंचे थे मगर धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. चंद्रशेखर की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया (ट्विटर) पर उनके समर्थक ने #Release Chandrashekhar Azad को काफी तेजी से ट्रेंड करा रहे हैं और लगातार मांग कर रहे हैं कि उन्हें जल्द से जल्द रिहा किया जाए.

कब की भीम आर्मी की स्थापना

चंद्रशेखर ने भीम आर्मी की स्थापना साल 2014 में कई साथियों के साथ मिलकर की थी. चंद्रशेखर आजाद और उनकी भीम आर्मी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है. एक्टिव का सबसे कारण है कि आजाद काफी विवादों में रहते हैं. साल 2015 में उन्होंने अपने गांव में धड़कौली वेलकम यू द ग्रेट चमार्स का बोर्ड लगाया था. इस मामले के सामने आने के बाद काफी विवाद खड़ा हो गया था.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
राजनीतिक दल समझते हैं कि न्यायपालिका उनके फैसलों का समर्थन करेगी, लेकिन वह सिर्फ संविधान के प्रति उत्तरदायी है : सीजेआई रमना