Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Banka Rape Murder Case:8 साल की बच्ची को न्याय दिलाने पहुँची ‘योगिता भयाना’और पिता के साथ पुलिस काअमानवीय व्यवहार

03 Apr, 2022
Employee
Share on :

19 मार्च को हुए इस घटना में आरोपियों को सजा दिलाने ‘मुख्यमंत्री आवास’ पहुंचे बच्ची के पिता और महिला एक्टिविस्ट योगिता भयाना के साथ पुलिस ने की बदतमीजी। बाद में दोनों को पुलिस जीप में बिठाकर ले जाया गया। मौके पर पहुंचे मीडियाकर्मियों ने घटना की विडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी.

बिहार: बांका जिले में कुछ दिनों पहले एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई थी. घटना 19 मार्च की है जब  बांका जिले के चांदन थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर-5 में होली का जश्न चल रहा था. इस दौरान एक 8 साल की बच्ची अपने 5 साल के भाई के साथ होली खेलने घर से बाहर निकली तभी कोई उसे उठा ले गया और उसके साथ कथित तौर पर रेप किया. इतना ही नही, रेप के बाद बच्ची की आँखे भी फोड़ दी. उसकी हत्या कर शव को एक नाले में बालू से दबा दिया. 

मृतक बच्ची के परिजनों ने बताया कि जब बहुत देर तक बच्ची लापता रही तो उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस की टीम ने परिजनों के साथ मिलकर बच्ची को खोजना शुरू किया. रात के करीब 11:30 बजे उन्हें चांदन रेलवे स्टेशन के पास एक पुराने नाले के ऊपर दो चार कुत्ते घूमते दिखे, शक होने पर नाले के पास जाकर देखा तो वहां बच्ची का शव नग्न अवस्था में बालू से ढका मिला.

इसे भी पढ़ेंप्रधानमंत्री ने ‘आत्मनिर्भर नारी-शक्ति से संवाद’ में महिला स्वयं सहायता समूहों के साथ बातचीत की

इस मामले में डीएसपी प्रेमचंद सिंह का कहना था कि वो खुद इस पूरे मामले पर नजर रखे हुए हैं. वहीं, चार लोगों को हिरासत में भी ले लिया गया और जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कही गयी थी.  

हालाँकि, मृतक बच्ची के परिजनों की माने तो उन्हें इंसाफ अभी तक नही मिला है. बच्ची के पिता इंसाफ की गुहार लगाने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने बांका से पटना तक आगये लेकिन सीएम ऑफिस से उन्हें टाइम नहीं दिया गया। उनके साथ दिल्ली से आई महिला एक्टिविस्ट योगिता भयाना भी थीं। लेकिन पटना सीएम आवास के सुरक्षाकर्मि उन्हें अंदर जाने से रोकने लगे और बदसलूकी भी की। मृतक बच्ची का लाचार पिता चीख चीख कर अपनी बेटी के लिए इंसाफ मांग रहा था लेकिन उसके हाथ निरासा ही लगी। वो रो-रो कर बोल रहा था कि पुलिस वाले अपराधी को नहीं पकड़ रहे बल्कि उन्हें ही परेशान कर रहे हैं। बलात्कारियों के जगह उसके भाई को ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

लाचार पिता ने यहाँ तक कहा कि हम यहीं मर जाएंगे लेकिन सीएम साहब से मिल कर ही वापस जाएंगे। मगर सीएम आवास के बाहर तैनात पुलिस कुछ सुनने को तैयार नहीं थे। पुलिस पीड़ित और सामाजिक कार्यकर्ता से बदतमीजी करने लगे और भगाने की कोशिश करने लगे। लेकिन तबतक मीडिया वहां पहुंच चुकी थी जिसके कारण वो ज्यादा कुछ नहीं कर पा रहे थे. हालाँकि, वीडियो बना रहे मीडियाकर्मियों के साथ भी धक्का-मुक्की हुई लेकिन सब कुछ रिकॉर्ड हो चूका था और देखते ही देखते इस घटना की विडियो वायरल हो गयी. 

विडियो में बिहार पुलिस बदतमीजी करते साफ तौर पर नजर आ रहे हैं. वहीं, सचिवालय थाने के थानाध्यक्ष सीपी गुप्ता बार-बार महिला एक्टिविस्ट योगिता भयाना को कह रहे थे कि महिला हो महिला की तरह रहो। वे लगातार योगिता भयाना के साथ जुबानी बदतमीजी करते नजर आये। बाद में बच्ची के पिता और महिला एक्टिविस्ट को पुलिस जीप में बिठाकर ले जाया गया। विडियो वायरल होते ही लोग बिहार पुलिस और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार पर सवाल उठाने लगें. 

अब देखना होगा कि सुशासन बाबु इसपर क्या एक्शन लेते हैं.

News
More stories
Delhi: 15 साल पुराने पेट्रोल व्हीकल के रजिस्ट्रेशन अब हो सकते है क्या रेन्यूअल, जानें दिल्ली हाई कोर्ट का फैसला...