Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

आटा के बाद अब चावल भी हुआ महंगा, सिर्फ पांच दिन में 10 फीसदी बढ़ें दाम, जानें- इसके पीछे की वजह

27 Jun, 2022
Sachin
Share on :

भारत में गेंहू के बाद चावल पर भी एक्सपोर्ट पर प्रतिबन्ध लग सकता है. भारत द्वारा चावल के निर्यात पर रोक लगाने के फैसले के डर से बांग्लादेश ने चावल आयात करने का निर्णय लिया है.

नई दिल्ली: गेंहू के दामों में उछाल के बाद अब पिछले कुछ दिनों से चावल के दामों में तेजी देखी जा रही है. बताया जा रहा है कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में चावल के दामों में बीते 5 दिनों में 10 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है. दरअसल, बांग्लादेश ने चावल पर इंपोर्ट ड्यूटी और टैरिफ को 62.5 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी कर दिया है. 22 जून को बांग्लादेश ने आधिकारिक रूप से नोटिस जारी कर 31 अक्टूबर, 2022 तक गैर-बासमती चावल के आयात की मंजूरी दे दी है.

बांग्लादेश में बाढ़ से धान की फसल को भारी नुकसान        

कयास लगाया जा रहा है कि भारत में गेंहू के बाद चावल पर भी एक्सपोर्ट पर प्रतिबन्ध लगा सकता है. भारत द्वारा चावल के निर्यात पर रोक लगाने के फैसले के डर से बांग्लादेश ने चावल आयात करने का निर्णय लिया है. रूस यूक्रेन युद्ध के चलते बांग्लादेश में अनाज की भारी कमी होने लगी है. भारत ने गेंहू के निर्यात पर पहले ही रोक लगा दी है. जिससे परेशानी बढ़ गई है और बंगलादेश में बाढ़ आने से धान के फसल को बहुत नुकसान पहुंचा है. इसलिए बांग्लादेश चावल जल्द से जल्द आयात करना चाहता है. खबरों के मुताबिक बांग्लादेश में इन दिनों चावल की किल्लत हो गई है, ऐसे में वहां चावल महंगा होता जा रहा है. बांग्लादेशी सरकार ने महंगाई पर लगाम लगाने के लिए भारत से चावल आयात बढ़ाने के लिए ड्यूटी कम करने का फैसला लिया है.

बांग्लादेश में बाढ़ से धान की फसल को भारी नुकसान 

और यह भी पढ़ें- पहले बजट में मान सरकार ने किया बहुत बड़ा एलान, 1 जुलाई से पंजाब में मिलेगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली

चावल के दामों में भारी उछाल

5 दिनों भारतीय गैर-बासमती चावल के दाम 350 डॉलर प्रति टन से बढ़कर 360 डॉलर प्रति टन पर जा पहुंचा है. कई जानकारों का कहना है कि चावल के दाम 10 फीसदी तक बढ़ चुके हैं. पश्चिंम बंगाल, उत्तरप्रदेश और बिहार से चावल का बांग्लादेश में निर्यात किया जाता है. बांग्लादेश के इस निर्णय के बाद तो इन तीनों राज्यों में ही चावल के दाम 20 फीसदी तक बढ़ चुके हैं. दूसरे राज्यों में 10 फीसदी का इजाफा हुआ है. 2020-21 में बांग्लादेश ने 13.59 लाख टन चावल का आयात किया था. आंकड़ों के मुताबिक भारत ने 2021-22 में 6.11 बिलियन डॉलर का गैर-बासमती चावल निर्यात किया था. जबकि 2020-21 में 4.8 अरब डॉलर का चावल निर्यात किया गया था. चावल के ग्लोबल ट्रेड में भारत की हिस्सेदारी 40 फीसदी हैं.

आटा, दाल, खाने के तेल से लेकर कई खाने पीने की वस्तुओं के दामों में पहले ही बढ़ोतरी हो चुकी है, अब चावल भी महंगा हुआ

आटा के बाद चावल भी महंगा

बहरहाल अब महंगाई की मार चावल पर पड़ने वाली है. आटा, दाल, खाने के तेल से लेकर कई खाने पीने की चीजों के दाम पहले ही बढ़ चुके थे. अब चावल भी महंगा हो चुका है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
Kanpur: सपा विधायक इरफान सोलंकी के भाई पर दहेज और तीन तलाक का आरोप, कमिश्नर के कहने पर हुई FIR दर्ज