Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

125 वर्षीय योग गुरु स्वामी शिवानंद को मिला पद्म श्री, PM मोदी भी झुके सम्मान में

22 Mar, 2022
Employee
Share on :

पीएम मोदी को स्वामी शिवानंद ने पुरस्कार लेने से पहले दंडवत प्रणाम किया जिसके सम्मान में प्रधानमंत्री मोदी भी अपनी सीट से उठे और झुक कर योग गुरु को प्रणाम किया.

नई दिल्ली: पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित होने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति को दर्शकों की तालियों के बीच राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सम्मानित किया। सफेद कुर्ता और धोती पहने 125 वर्षीय ‘योग गुरु स्वामी शिवानंद’ को रामनाथ कोविंद ने सोमवार, 21 मार्च, को पद्मश्री से नवाजा. राष्ट्रपति भवन के भव्य दरबार हॉल के अंदर नंगे पांव चले आ रहे स्वामी शिवानंद जी को तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत किया गया। मालूम हो, देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक पद्म पुरस्कार सोमवार को प्रदान किए गए।

इस दौरान भावुक करने वाला पल तब आया जब पीएम मोदी को स्वामी शिवानंद ने पुरस्कार लेने से पहले दंडवत प्रणाम किया जिसके सम्मान में प्रधानमंत्री मोदी भी अपनी सीट से उठे और झुक कर योग गुरु को प्रणाम किया. जब शिवानंद राष्ट्रपति से सम्मान लेने पहुंचे तो वह महामहिम के सामने भी झुक गए। राष्ट्रपति ने भी शिवानंद का हाथ पकड़कर उन्हें गले लगाया। तस्वीरों के लिए पोज़ देने से पहले दोनों ने बातचीत भी की। शिवानंद का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसपर यूजर्स तरह तरह की प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं। वहीं, बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार भी बाबा की फिटनेस देख हैरान रह गये और विडियो शेयर करने से खुद को रोक ना सकें.

बता दें, स्वामी शिवानंद वाराणसी के एक साधु हैं, जिनका जन्म अगस्त 1896 में हुआ था। इतनी उम्र होने’ के बावजूद, वे हर दिन सुबह 3 बजे उठते हैं और एक सही दिनचर्या का पालन करते हैं। शिवानंद फर्श पर एक चटाई पर सोते हैं और तकिए के रूप में लकड़ी के स्लैब का उपयोग करते हैं। वह धार्मिक रूप से योग का अभ्यास करते हैं’ और यही वजह है कि बिना किसी चिकित्सीय जटिलता के वह अपना जीवन जीने के लिए पर्याप्त रूप से मजबूत हैं। शिवानंद के बारे मेंं कहा जाता है कि वह चमक-दमक की दुनिया से दूर सादा जीवन व्यतीत करने में विश्वास रखते हैं और साधारण आहार खाने के साथ निःस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा करते हैं।

दरअसल, योगी शिवानंद ने 6 साल की छोटी उम्र में अपने माता-पिता को खो दिया था। स्वामी ने अपने माता-पिता के अंतिम संस्कार से इनकार कर ब्रह्मचर्य का मार्ग चुना। उन्हें पश्चिम बंगाल के नवद्वीप के एक आश्रम में भेजा गया जहाँ उनका पालन-पोषण गुरु ओंकारानंद गोस्वामी ने किया और हर तरह की शिक्षा भी दी। स्वामी शिवानंद ने रूस, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया सहित 34 देशों की यात्रा भी की है।

हालाँकि, बाबा शिवानंद के योगाभ्यास चर्चावों में तब आई थी, जब एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने ट्विटर पर उनका वीडियो शेयर कर उनकी सेहत के बारे में सभी को बताया था।

इसे भी पढ़ेंPushkar Singh Dhami चुने गए उत्तराखंड के नए CM, विधायक दल की बैठक में हुआ बड़ा फैसला

मालूम हो, हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर ‘राष्ट्रपति’ पुरस्कारों की घोषणा करते हैं. इस साल भी गणतंत्र दिवस पर 128 पद्म पुरस्कारों को प्रदान करने की मंजूरी दी गयी थी जिसे सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में सभी विजेतावों को दिया गया.

News
More stories
आज ही के दिन 22 मार्च को ठहर गया था हिंदुस्तान... प्रधानमंत्री की एक अपील पर लगा था जनता कर्फ्यू