कोहरे की समस्या से निपटने के लिए उठाए जा रहे कदमों से उड़ानों के रद्द होने और देरी में उल्लेखनीय कमी आई

05 Dec, 2023
Head office
Share on :

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने कल राज्यसभा में एक तारांकित प्रश्न के पूरक उत्तर में कहा कि नागरिक उड्डयन नियम (सीएआर) के अनुसार, प्रस्थान के 1-2 घंटे पहले उड़ान रद्द होने की स्थिति में समय, एयरलाइंस को शीघ्र दूसरी कनेक्टिंग उड़ान की व्यवस्था करने की आवश्यकता है।

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने कल राज्यसभा में एक तारांकित प्रश्न के पूरक उत्तर में कहा कि नागरिक उड्डयन नियम (सीएआर) के अनुसार, प्रस्थान के 1-2 घंटे पहले उड़ान रद्द होने की स्थिति में समय, एयरलाइंस को शीघ्र दूसरी कनेक्टिंग उड़ान की व्यवस्था करने की आवश्यकता है। यदि 5 से 6 घंटे से अधिक का विलंब होता है, तो होटल में ठहरने की व्यवस्था करना, यात्रियों को रिफंड देना और उन्हें अगली उपलब्ध उड़ान प्रदान करना एयरलाइंस का उत्तरदायित्व है। उन्होंने कहा कि इन नियमों को सीएआर में दर्शाया गया है और यदि कोई उल्लंघन नागरिक उड्डयन मंत्रालय के संज्ञान में लाया जाता है, तो तदनुसार डिफॉल्टर के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाती है।

श्री सिंधिया ने सर्दियों के महीनों के दौरान कोहरे की समस्या से निपटने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में भी विस्तार से बताया, जिससे कोहरे के कारण उड़ानों को रद्द करने और विलंब होने में उल्लेखनीय कमी आई है।

कल एक अतारांकित प्रश्न के उत्तर में, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल डॉ. वी.के. सिंह (सेवानिवृत्त) ने बताया कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) प्रति वर्ष कोहरे की अवधि शुरू होने से पहले हितधारकों के साथ सम्पर्क करता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोहरे से संबंधित अभियानों के लिए सारी तैयारियां पूरी हो जाएं। कोहरे की अवधि शुरू होने से पूर्व निम्नलिखित कदम उठाए जाते हैं :

i) कोहरे के मौसम के दौरान निर्बाध वायु नेविगेशन सेवाएं (एएनएस) सुनिश्चित करने के लिए सीएटी II/III आईएलएस सुविधाओं की विशेष लेखा-परीक्षा

ii) यह सुनिश्चित करने के लिए निरीक्षण करना कि हवाई अड्डों पर महत्वपूर्ण/संवेदनशील क्षेत्रों को उचित रूप से सुरक्षित किया गया है

iii) कोहरे के दौरान सीएटी II/III गैर-अनुपालन वाले विमानों को प्रचालन से हटाने के लिए एयरलाइंस को अपनी उड़ान अनुसूची में बदलाव लाने का निर्देश।

iv) एयरलाइंस को केवल कैट II/III योग्य चालक दल का शेड्यूल सुनिश्चित करने के निर्देश।

कोहरे की अवधि की शुरुआत की तैयारी के लिए, हवाई अड्डों और हवाई नेविगेशन सेवाओं के क्षेत्र में विभिन्न सुविधाओं को बढ़ाने के लिए पिछले दो वर्षों में निरीक्षण और विशेष लेखा परीक्षा की संख्या में वृद्धि की गई थी। इसके परिणामस्वरूप, उड़ानों में लगभग 20 प्रतिशत की वृद्धि के बावजूद, उड़ान स्थगन जो 2021-2022 के दौरान कुल उड़ान आवाजाही का 0.09 प्रतिशत था,  2022-2023 में कुल उड़ान आवाजाही में 0.05 प्रतिशत की कमी आ गई।

सरकार ने निम्नलिखित के माध्यम से कोहरे से निपटने की तैयारियों में और सुधार करने की योजना बनाई है :

(1) लागू विनियमनों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए हवाई अड्डा, हवाई नेविगेशन सेवाएं, मौसम विज्ञान उपकरण आदि जैसी विभिन्न सुविधाओं की नियमित निगरानी।

(2) कोहरे की अवधि शुरू होने से पहले, निर्बाध हवाई नेविगेशन सेवाओं, हवाई क्षेत्र की रोशनी और अन्य संबंधित सुविधाओं को सुनिश्चित करने और महत्वपूर्ण तथा संवेदनशील क्षेत्रों को पर्याप्त रूप से सुरक्षित करने के लिए कोहरे से प्रभावित हवाई अड्डों का लेखा परीक्षा की जाती है।

(3) कोहरा शुरू होने से पहले एयरलाइंस को निम्नलिखित सुनिश्चित करने का निर्देश

i.  कोहरे की अवधि के दौरान सीएटी II/III गैर-अनुपालक विमानों के प्रचालन को समाप्त करने के लिए उड़ान अनुसूचियों में बदलाव लाना

ii. कोहरे से प्रभावित हवाई अड्डों के लिए केवल सीएटी II/III योग्य चालक दल का शेड्यूल सुनिश्चित करना

iii. यह सुनिश्चित करना कि विलंब के दौरान यात्री प्रबंधन निर्धारित मानदंडों के अनुरूप हो

iv. डायवर्जन हवाई अड्डों पर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर (एएमई) की स्थिति सुनिश्चित करना।

(4) कोहरे की अवधि आरंभ होने से पूर्व सरकार द्वारा समग्र तैयारी अभियान की गहनता से निगरानी और समीक्षा की जाती है।

News
More stories
7 दिसंबर को रेवंत रेड्डी तेलंगाना के मुख्यमंत्री पद की लेंगे शपथ
%d bloggers like this: